उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय के लाइजिनिंग ऑफिसर सुरेंद्र नेगी हुए सस्पेंड

उत्तराखंड प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय के लाइजिनिंग ऑफिसर सुरेंद्र नेगी को लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने निलंबित कर दिया है. बिना एनओसी मंत्री का लाइजन ऑफीसर बनने और हाल में उत्तरकाशी के जिला शिक्षा अधिकारी प्राथमिक को थप्पड़ मारने की धमकी देने पर यह कार्रवाई की गई है. सचिव लोनिवि की ओर से इसके आदेश किए गए हैं.

लोनिवि के सहायक अभियंता सुरेंद्र पाल सिंह नेगी को यूएस नगर के मुख्य विकास अधिकारी ने 2017 में शिक्षा मंत्री का गदरपुर विधानसभा के लिए लाइजन ऑफीसर बनाया था. उस वक्त उनकी तैनाती मूल रूप से लोनिवि के रुद्रपुर डिविजन में सहायक अभियंता के तौर पर थी लेकिन इस आदेश के बाद से सहायक अभियंता नेगी पूरी तरह लाइजन ऑफीसर के रूप में ही कार्य करने लगे.

इसके लिए उन्होंने विभाग से कोई एनओसी नहीं ली और विभाग के आला अफसरों को तो इसकी भनक काफी समय बाद लग पाई. लाइजन आफीसर रहते हुए नेगी के खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही थी. जिस पर सरकार ने उनका तबादला रुद्रपुर से लोनिवि के थराली डिविजन कर दिया था. लेकिन इसके बावजूद नेगी का रुतबा कम नहीं हुआ.

10 जुलाई को शिक्षा मंत्री के उत्तरकाशी दौरे के दौरान वह भी उत्तरकाशी पहुंचे और उत्तरकाशी के जिला शिक्षा अधिकारी प्राथमिक के साथ अभद्रता की. आदेश में कहा गया है कि नेगी ने न केवल जिला शिक्षा अधिकारी से अभ्रदता की बल्कि थप्पड़ मारने की धमकी भी दी.

इसे सरकारी काम में बाधा डालने और कर्मचारी आचरण नियमावली का उल्लंघन माना गया है. बिना सूचना के मुख्यालय छोड़ने को भी अनुशासनहीनता माना गया है. आदेश में कहा गया है कि सहायक अभियंता एसएस नेगी के आचरण से सरकार की छवि धूमिल हो रही है और इसे देखते हुए उन्हें निलम्बित किया जाता है. निलम्बन अवधि में नेगी लोनिवि के गोपेश्वर खंड में अटैच रहेंगे. सूत्रों ने बताया कि अब जल्द उनके खिलाफ जांच के आदेश भी होंगे. आरोपों की जांच के बाद नेगी पर सख्त एक्शन भी हो सकता है.