हरिद्वार: केंद्रीय मंत्री निशंक के कैंप कार्यालय में चोरों ने बोला धावा, पुलिस से शुरू की जांच

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के हरिद्वार स्थित कैंप कार्यालय में चोरों ने धावा बोला. छत से घुसे चोरों ने एसी और एलईडी ले जाने का प्रयास किया. हालांकि चोर अपने इरादों में कामयाब नहीं हो पाए. कार्यालय से कोई सामान गायब नहीं है. पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू कर दी है.

हरिद्वार की पॉश कॉलोनी कॉलोनी नंद विहार ज्वालापुर में केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक का कैंप कार्यालय है. लॉकडाउन के कारण बीते मार्च माह से कैंप कार्यालय बंद था. गुरुवार रात कार्यालय में चोरी का प्रयास हुआ. घटना की जानकारी शुक्रवार को मिली, जब किसी ने देखा कि कार्यालय की छत का दरवाजा खुला हुआ है. पुलिस पहुंची तो कैंप कार्यालय की एलईडी और एसी से छेड़छाड़ की गई थी. जबकि अंदर का सामान बिखरा पड़ा था और कार्यालय की छत के गेट का कुंडा टूटा हुआ था.

अनुमान लगाया जा रहा है कि चोर छत के रास्ते से ही कैंप कार्यालय में घुसे थे. चोरों ने कैंप कार्यालय की अलमारी भी खंगाली. गनीमत रही कि कार्यालय से कोई भी सामान गायब नहीं है. मौके पर पहुंचे ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने आसपास के लोगों से जानकारी जुटाई. एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि कैंप कार्यालय में चोरी का प्रयास हुआ है. आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं.

सांसद प्रतिनिधि ओमप्रकाश जमदग्नि घटना की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंचे. उन्होंने केंद्रीय मंत्री निशंक से बातचीत कर घटना की जानकारी दी. वहीं ओमप्रकाश जमदग्नि ने नाराजगी जताते हुए पुलिस की कार्यशैली को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि पॉश कॉलोनी में इस तरह से चोरी का प्रयास पुलिस गस्त की पोल खोल रहा है.

केंद्रीय मंत्री निशंक के कैंप कार्यालय से लगते हुए खन्ना नगर में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक का घर भी है. शहर के सबसे पॉश इलाके में हुए चोरी के प्रयास ने पुलिस की नींद उड़ा दी हैं. एक टीम सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुट गई है. पुलिस मान रही है कि चोरी का प्रयास करने वाले प्रोफेशनल चोर नहीं है. पुलिस की प्रारंभिक जांच की मानें तो यह काम नशेड़ियों का हो सकता है.