पंजाब में जहरीली शराब से 21 लोगों की मौत, पंजाब सरकार ने दिए मजिस्ट्रियल जांच केआदेश

पंजाब के अमृतसर शहर और तरनतारन में नकली शराब पीने से 21 लोगों की मौत हो गई. यह जानकारी पुलिस ने दी. पुलिस ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जान गंवाने वाले सभी लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों से ताल्लुक रखते थे. मृतकों में से एक की पहचान कुलदीप सिंह (24) के रूप में हुई है. इस बीच, मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक की निगरानी में चार सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है.

मामले की जानकारी देते हुए डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि पहली पांच मौतें 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसीका में मुच्छल और तंग्रा से हुई थीं. 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में संदिग्ध परिस्थितियों में दो और लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया.

इस मामले की छानबीन करते हुए पुलिस ने एक महिला को गिरफ्तार किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मामले पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी नाराजगी जाहिर करते हुए पुलिस को निर्देश दिया है कि वह प्रदेश में चल रही किसी भी प्रकार की शराब बनाने वाली इकाइयों पर नकेल कसने के लिए तलाशी अभियान शुरू करे.