महानायक जब-जब संकटों में घिरे तब करोड़ों प्रशंसकों ने उनका हौसला बढ़ाया

हमारे देश के महानायक अमिताभ बच्चन एक बार फिर से संकटों में घिरे हुए हैं. शनिवार देर रात अमिताभ बच्चन में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद उन्हें मुंबई के नानावटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यह खबर जैसे ही पूरे देश में फैली एक बार फिर लाखों-करोड़ों फैंस अपने सुपरस्टार के लिए दुआ मांगने लगे. आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन और बीमारी का जैसे चोली दामन का साथ है. जब जब अमिताभ संकटों से घिरे हैं तब पूरा देश उनके लिए उठ खड़ा होता है उनकी सेहत की ईश्वर से कामना करने के लिए. ऐसा इस बार भी हो रहा है. सोशल मीडिया पर महानायक की सेहत को लेकर लाखों प्रक्रियाएं आ रही हैं. पिछले साल अमिताभ बच्चन की सेहत बिगड़ने पर जब वे अस्पताल में एडमिट हुए थे तब भी करोड़ों प्रशंसकों ने उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना की थी.

ऐसे ही वर्ष 2006 में अमिताभ बच्चन लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान गंभीर रूप से बीमार होने पर मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. उस समय भी अपने महानायक को जल्द ठीक होने के लिए देशवासियों ने दुआ की थी. देश की जनता और प्रशंसकों की दुआओं की वजह से ही अमिताभ बच्चन हर संकट को पीछे छोड़ते हुए एक नए जोश के साथ सामने आते रहे हैं. आज अमिताभ बच्चन एक बार फिर अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भर्ती है. अमिताभ बच्चन की सेहत को लेकर प्रशंसकों का उनको हौसला बढ़ाना, कई वर्षों से चला आ रहा है. आइए अब आपको हम 38 वर्ष पहले लिए चलते हैं.


1982 में कुली फिल्म शूटिंग के दौरान घायल हुए अमिताभ के लिए देश उठ खड़ा हुआ था

आज के फिल्मी प्रशंसकों को शायद इस बात की जानकारी नहीं होगी कि वर्ष 1982 बॉलीवुड को बड़ी घटना के रूप में आज भी याद किया जाता है. इस वर्ष फिल्म कुली की शूटिंग बंगलुरु में चल रही थी. उसी दौरान नए कलाकार के रूप में आए पुनीत इस्सर का अमिताभ बच्चन के पेट में घूंसा लग गया था, इस सीन में अमिताभ के पेट में चोट लगी थी अमिताभ की तबीयत इतनी ज्यादा बिगड़ी कि उन्हें मुंबई ले जाना पड़ा. चोट की वजह से अमिताभ की आंत फट गई थी.

मुंबई में अमिताभ के पेट का ऑपरेशन हुआ, उनकी हालत बहुत नाजुक थी. जैसे यह खबर फैली पूरा देश अपने अभिनेता के जल्द सही होने की ईश्वर से कामना करने लगा था. अस्पताल में अमिताभ बच्चन 6 महीने जिंदगी और मौत से जूझ रहे थे. पूरा देश अमिताभ के जल्द सही होने के लिए मंदिरों में पूजा पाठ करने लगा था. तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी उन्हें देखने गई थीं. बाद में डॉक्टरोंं को उनका ऑपरेशन करना पड़ा. प्रशंसकों की दुआओं का असर हुआ महानायक धीरे धीरे सही होने लगे.अमिताभ ने मौत को मात दी और फिर सुनहरे पर्दे पर लौटे. सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के जीवन में बहुत सी चुनौतियां आईं. कई बार संकटों के बादल घिरे, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी.


देशवासियों के साथ करोड़ों प्रशंसक एक बार फिर अमिताभ के लिए कर रहे हैं प्रार्थना
अमिताभ के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद एक बार फिर पूरे देश के साथ करोड़ों प्रशंसक उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करने में जुट गए हैं. प्रशंसकों को एक बार फिर भरोसा है कि इस बार भी अमिताभ की विजय होगी. एक बार फिर 38 साल बाद पूरा देश और करोड़ों प्रशंसक उनके जल्द सही होने की कामना करने में जुट गया है. महानायक भी जानते हैं जब जब उन पर मुसीबत आई है तब पूरा देश उनके साथ उठ खड़ा होता है. अमिताभ बच्चन ने कभी भी अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया है. महानायक पिछले काफी समय से सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म पर बहुत सक्रिय रहते हैं.

हर रोज अपने ब्लॉग पर कुछ न कुछ लिखते रहते हैं. शनिवार देर रात कोरोना पॉजिटिव होने के बाद जब अमिताभ मुंबई के नानावटी अस्पताल में एडमिट हुए तब एक उनका वीडियो सोशल मीडिया में खूब देखा जा रहा है इसमें वह महामारी से निपटने के लिए डॉक्टरों की सेवा और समर्पण की सराहना और जीवन मूल्यों की बातें करते हुए दिखाई दे रहे हैं. प्रशंसकों और देशवासियों को भरोसा है कि अमिताभ बच्चन जल्द ही स्वस्थ होकर उसी जोश और उमंग के घर लौट आएंगे.