ट्रेन टिकटों पर छात्रों को भारी छूट दे रहा है भारतीय रेलवे, जानिए डिटेल में आईआरसीटीसी के नियम

भारतीय रेलवे से विभिन्न श्रेणियों के तहत ट्रेन टिकट पर छूट का लाभ उठा सकते हैं. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) के भारतीय रेलवे की टिकटिंग ब्रांच के पास खास अवसरों पर छात्रों के लिए प्रावधान है, जिसके तहत वे 75% तक ट्रेन टिकट पर छूट का लाभ उठा सकते हैं. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन ने खास गाइडलाइन जारी की है, जिसके तहत छात्रों को ट्रेनों के टिकट मूल्य निर्धारण में छूट मिल सकती है.

अगर छात्र अपने होम टाउन जा रहा हो या एजुकेशनल टूर पर जा रहा हो तो वैसे छात्र भारतीय रेलवे से छूट प्राप्त कर सकते हैं. जनरल कटैगरी के छात्र सेकेंड एंड स्लिपर क्लास में 50% का कॉनसेशन ले सकते है. और MST या QST में भी 50% का लाभ उठा सकते हैं. जबकि एससी या एसटी कटैगरी के छात्र टिकटों पर सेकेंड एंड स्लिपर क्लास 75% तक का छूट ले सकते हैं. और MST या QST में भी 75% तक का छूट ले सकते हैं. लड़कियों को ग्रेजुएशन तक कॉनसेशन मिलेगा जबकि लड़कों को 12वीं कक्षा (मदरसा के छात्रों सहित) तक छूट मिलेगी. यह छूट स्कूल से घर या घर से स्कूल जाने के लिए मिलेगी.

नीचे जानिए किन छात्रों को ट्रेन यात्रा के लिए टिकट पर कितना छूट मिलेगी

  • ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों के छात्र स्टडी टूर के लिए वर्ष में एक बार सेकेंड क्लास में 75 प्रतिशत रियायत प्राप्त कर सकते हैं.
  • प्रवेश परीक्षा – ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी स्कूलों की लड़कियां – मेडिकल, इंजीनियरिंग, आदि के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रवेश परीक्षा के लिए द्वितीय श्रेणी में 75 प्रतिशत छूट का लाभ उठा सकती है.
  • यूपीएससी और केंद्रीय कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित मुख्य लिखित परीक्षा में उपस्थित होने वाले छात्रों के लिए सेकेंड क्लास में 50% की रियायत मिलती है.
  • भारत में अध्ययन करने वाले विदेशी छात्र – भारत सरकार द्वारा आयोजित शिविरों/सेमिनारों में भाग लेने के लिए यात्रा करते हैं और छुट्टियों के दौरान ऐतिहासिक और अन्य महत्व के स्थानों पर जाते हैं, उन्हें सेकेंड एंड स्लिपर क्लास में 50% की छूट मिलेगी.
  • 35 वर्ष की आयु तक के रिसर्च स्कॉलर्स – शोध कार्य के सिलसिले में यात्रा के लिए सेकेंड क्लास और स्लिपर क्लास में 50% की रियायत प्राप्त कर सकते हैं.
  • वर्क कैंप में भाग लेने वाले छात्रों और गैर-छात्रों को सेकेंड एंड स्लिपर क्लास में 25% रियायत मिल सकती है.
  • कैडेट और मरीन इंजीनियर अपरेंटिस, मर्केंटाइल मरीन के लिए नेविगेशनल / इंजीनियरिंग ट्रेनिंग करने वाले – घर और ट्रेनिग जहाज के बीच यात्रा के लिए सेकेंड एंड स्लिपर क्लास में 50% रियायत का लाभ उठा सकते हैं.

और जानकारी चाहते हैं तो आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाकर की नियमों की डिटेल देख सकते हैं.