उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस टेस्ट के दाम किए तय, जानें कितनी राशि लगेगी जांच में

उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस टेस्ट के दाम तय कर दिए गए हैं. कोरोना की जांच की कीमत प्राइवेट लैब के लिए अधिकतम 2,400 रुपए तय कर दी गई है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अगुवाई वाली राज्य सरकार ने तय किया है कि कोविड-19 RT-PCR टेस्ट के लिए प्राइवेट लैब सिर्फ 2000 रुपए लेगी.

इसी में जीएसटी की राशि भी शामिल है. अगर प्राइवेट लैब खुद से सैंपल कलेक्ट करती है तो वह 2400 रुपए चार्ज करेगी. लेकिन अगर वह कोरोना सैंपल किसी प्राइवेट या पब्लिक हॉस्पिटल से लेती है तो वह किसी हाल में 2000 रुपए से ज्यादा चार्ज नहीं कर सकती.

गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली में इस तरह का फैसला 17 जून को ही किया गया था. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा गठित कमेटी के सुझावों के बाद दिल्ली में कोरोना की जांच की कीमत 2,400 रुपए तय कर दी गई थी. 17 जून को तय किए गए फैसले के बाद यह साफ हो गया था कि गुरुवार 18 जून से दिल्ली में रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से कोरोना टेस्ट शुरू होंगे. यह तकनीक नई है जिसकी आईसीएमआर ने कंटेनमेंट जोन और अस्पताल में इस्तेमाल करने के लिए मंजूरी दी है.

गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली में इस तरह का फैसला 17 जून को ही किया गया था. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा गठित कमेटी के सुझावों के बाद दिल्ली में कोरोना की जांच की कीमत 2,400 रुपए तय कर दी गई थी. 17 जून को तय किए गए फैसले के बाद यह साफ हो गया था कि गुरुवार 18 जून से दिल्ली में रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से कोरोना टेस्ट शुरू होंगे. यह तकनीक नई है जिसकी आईसीएमआर ने कंटेनमेंट जोन और अस्पताल में इस्तेमाल करने के लिए मंजूरी दी है.

दिल्ली को यह टेस्ट किट प्राथमिकता के रूप में उपलब्ध कराई जाएगी. इसके लिए दिल्ली भर में 169 केंद्र बनाए गए हैं. इसमें टेस्ट रिपोर्ट 30 मिनट के अंदर आ जाती है. इसके तहत अगर कोई नेगेटिव पाया जाता है तो उसका कंफर्मेशन RT-PCR टेस्ट से किया जाता है. लेकिन अगर कोई व्यक्ति इस टेस्ट में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसको पॉजिटिव मान लिया जाता है. अमित शाह के ज्यादा टेस्टिंग और जल्द नतीजों के निर्देश के तहत यह फैसला लिया गया है.

दिल्ली को यह टेस्ट किट प्राथमिकता के रूप में उपलब्ध कराई जाएगी. इसके लिए दिल्ली भर में 169 केंद्र बनाए गए हैं. इसमें टेस्ट रिपोर्ट 30 मिनट के अंदर आ जाती है. इसके तहत अगर कोई नेगेटिव पाया जाता है तो उसका कंफर्मेशन RT-PCR टेस्ट से किया जाता है. लेकिन अगर कोई व्यक्ति इस टेस्ट में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसको पॉजिटिव मान लिया जाता है. अमित शाह के ज्यादा टेस्टिंग और जल्द नतीजों के निर्देश के तहत यह फैसला लिया गया है.