बड़ी खबर: उत्तराखंड कैबिनेट ने दी बड़ी राहत, बिना पास एक से दूसरे जिले में जा सकेंगे लोग- नहीं किया जाएगा क्वारंटीन

उत्तराखंड में अब कोई भी नागरिक एक जिले से दूसरे जिले में जा सकेगा. हालांकि अंतरजनपदीय आवाजाही के लिए बनाई पास की व्यवस्था को समाप्त नहीं किया गया है. सरकार ने यह प्रावधान किया है कि दूसरे जिले में जाने से पहले केवल ऑनलाइन पास के लिए आवेदन करना है.

मंजूरी मिलने का इंतजार किए बिना आवेदन के आधार पर ही दूसरे जिले में जाया जा सकेगा. हालांकि अगर कोई भी जिला रेड जोन में शामिल होता है, तो वहां आने और जाने के लिए पास पर अनुमति लेने की व्यवस्था रहेगी.

जानकारी लिए आप को बता दें कि उत्तराखंड में सभी जिले ऑरेंज श्रेणी में हैं. ऐसे में सरकार ने एक जिले से दूसरे जिले में लोगों को आने जाने के लिए पास के लिए होने वाले आवेदन पर मंजूरी मिलने की व्यवस्था समाप्त कर दी है. शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि मंत्रिमंडल की बैठक में यह मामला आया था. सरकार ने यह निर्णय लिया कि अगर कोई व्यक्ति एक जिले से दूसरे जिले में जाना चाहता है तो जा सकता है. प्रशासन को सूचित करने के लिए उसे ऑनलाइन पास आवेदन वाली वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना है. ऑवेदन पर मंजूरी मिले, इसकी कोई आवश्यकता नहीं रहेगी.

उन्होंने साफ किया कि यह व्यवस्था ऑरेंज और ग्रीन जोन वाले जिलों के लिए ही है. अगर कोई जिला रेड जोन में आता है तो नियम पूरी तरह से बदल जाएंगे. रेड जोन में आने या वहां से बाहर जाने के लिए जिला प्रशासन पास पर मंजूरी देगा. बिना मंजूरी के कोई रेड जोन से बाहर नहीं आ और जा सकेगा. दूसरे जिलों से आने-जाने पर दूसरी बड़ी राहत यह है कि किसी भी व्यक्ति को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा.

क्वारंटीन किए जाने की व्यवस्था केवल रेड जोन वाले जिलों से आने वालों के लिए रहेगी. अगर कोई व्यक्ति रेड जोन से आता है तो उसे अनिवार्य रूप से क्वारंटीन किया जाएगा. कौशिक ने बताया कि सरकार के स्तर से निर्णय लिया जा चुका है, अब इसके संबंध में जिलाधिकारी अपने जिलों में आदेश जारी करेंगे. इसके बाद कोई भी व्यक्ति इसका लाभ ले सकेगा.

साभार-अमर उजाला