बड़ी खबर: जापान में हटाई गई कोरोना के चलते लगी इमरजेंसी, पीएम शिंजो आबे ने किया ऐलान

टोक्यो|…जापान में कोरोना वायरस के चलते लगाई गई इमरजेंसी हटा ली गई है. इस बारे में प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने ऐलान किया है. शिंजो आबे ने पूरे देश में लगी स्टेट ऑफ इमरजेंसी हटा ली है. इसके बाद उन इलाकों में लगे प्रतिबंध भी खत्म हो गए, जहां इमरजेंसी की वजह से कामकाज ठप पड़ा था.

एक टेलीविजन इंटरव्यू में शिंजो आबे ने कहा है कि हमने इमरजेंसी हटाने के लिए काफी कड़े पैमाने तय कर रखे थे. अब जाकर हमने उन पैमानों को छुआ है. जिसके बाद इमरजेंसी हटाने का फैसला लिया गया है.

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा है कि देश कोरोना से लड़ने में कामयाब रहा है. देश ने इसके संक्रमण को फैलने से रोकने में कामयाबी पाई है. जापान में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए पहले 7 अप्रैल को इमरजेंसी लगाई गई थी. उसके बाद इस पूरे देश में लागू कर दिया गया.

जापान में बाकी देशों की तुलना में करोनो वायरस के संक्रमण के कम मामले सामने आए हैं. यहां कोरोना के चलते मौतें भी कम हुई हैं. सोमवार तक जापान में कोरोना वायरस के 16,550 मामले सामने आए थे. कोरोना के चलते जापान में कुल 820 लोगों की मौत हुई.


जापान में इमरजेंसी के हटते ही विश्व की तीसरी अर्थव्यवस्था में तेजी आनी शुरू हो जाएगी. अब बिजनेस और उद्योग धंधे खोले जाने लगेंगे. इसके साथ ही स्कूलों को भी दोबारा से खोला जाएगा.

जापान के लोगों ने लॉकडाउन के नियमों का पूरी पाबंदी के साथ पालन किया, इसी वजह से संक्रमण पर इतनी जल्दी से काबू पाया जा सका. लॉकडाउन के दौरान टोक्यो पूरी तरह से शांत रहा. जापाना में कोरोना वायरस के संक्रमण के चरम के दिनों के दौरान हर रोज करीब 700 मामले सामने आ रहे थे. जो पिछले दिनों सिर्फ कुछ दर्जन रोज रह गए थे.

एक्सपर्ट बता रहे हैं कि कोई एक वजह नहीं है, जिससे जापान ने कोरोना पर काबू पाया. जापान का हाई लेवल का हाईजीन, जूतों को घर से बाहर ही रखना, मास्क का खूब इस्तेमाल, हाथ मिलाने और किस करने की जगह दूर से ही झुककर अभिवादन करने जैसी चीजों की वजह से संक्रमण काबू में आ पाया.