बड़ी खबर: भारत में नहीं थम रही कोरोना वायरस की रफ्तार, आज ईरान को भी छोड़ सकता है पीछे

भारत में लॉकडाउन-4.0 में बाजार के खुलने से लेकर यात्रा को लेकर तमाम छूट दे दी गई हैं. दूसरी ओर, कोरोना वायरस की रफ्तार भी बढ़ गई है. 18 मई से लागू लॉकडाउन-4 के पहले दो दिन देश में कोरोना के 5000+ केस सामने आए. इसके बाद लगातार तीन दिन 6000 से अधिक केस सामने आ चुके हैं. इस रफ्तार को देखते हुए तय है कि भारत कोविड-19 के सबसे अधिक केस के मामले में रविवार को ईरान को भी पीछे छोड़ देगा.

Worldometers वेबसाइट के मुताबिक भारत में शनिवार रात 11.30 बजे तक भारत में करीब 1.31 लाख लोग कोविड-19 से पीड़ित थे. वह शनिवार रात तक सबसे अधिक केस के मामले में दुनिया में 11वें नंबर पर था. ईरान (1.33 लाख) 10वें नंबर पर था. इन दोनों देशों के बीच महज दो हजार केस का अंतर था. ईरान में शनिवार को करीब 2000 नए केस सामने आए. अगर रविवार को दोनों देशों में यही रफ्तार रही, तो भारत 10वें नंबर पर आ जाएगा. जबकि, ईरान 11वें नंबर खिसक जाएगा.

भारत और ईरान कोविड-19 के केस में भले ही लगभग बराबरी पर हों, लेकिन दोनों देशों में मौत के आंकड़े में बड़ा अंतर है. भारत में कोविड-19 के कारण अब तक करीब 3900 लोगों की जान गई है. ईरान में 7350 लोग मारे जा चुके हैं. एक्टिव केस के मामले में भारत, ईरान से काफी आगे है.

भारत में करीब 7300 और ईरान में 22 हजार एक्टिव केस हैं. एशिया में सबसे अधिक कोरोना के केस के मामले में चीन चौथे, सऊदी अरब पांचवें, पाकिस्तान छठे, कतर सातवें, बांग्लादेश आठवें, सिंगापुर नौवें और यूएई 10वें नंबर पर है.

कोविड-19 के दुनिया भर में फैलाव को देखें तो यूरोप पहले, नॉर्थ अमेरिका दूसरे और एशिया तीसरे नंबर पर है. इसी तरह अगर एशिया की बात करें तो इस महाद्वीप में तुर्की कोरोना से सबसे अधिक पीड़ित है. यहां 1.55 लाख लोग इस वायरस से पीड़ित हैं, जिनमें से करीब 4300 लोगों की मौत हुई है. रविवार को जब आधिकारिक आंकड़े जारी होंगे तो पूरी संभावना है कि ईरान को पीछे छोड़कर भारत दूसरे नंबर पर पहुंच जाएगा.

दुनिया में कोरोना से पीडि़त लोगों की आबादी 53.70 करोड़ से लाख को पार कर गई है. Worldometers वेबसाइट के मुताबिक शनिवार देर रात तक दुनिया में 28 लाख एक्टिव केस थे, जबकि 22 लाख लोग इस वायरस के संक्रमण से उबर चुके थे. दुनिया में 3.442 लाख लोग कोरोना के संक्रमण का शिकार होकर जिंदगी गंवा चुके हैं. दुनिया में सबसे अधिक केस अमेरिका (16.55 लाख) हैं. यहां करीब 98 हजार लोग इस वायरस के चलजे जान गंवा चुके हैं.


साभार-न्यूज़ 18