अमेरिकी स्टडी में खुलासा, राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की होगी ऐतिहासिक हार


वाशिंगटन|….. एक अमेरिकी स्टडी में खुलासा किया गया है कि डोनाल्ड ट्रंप इस साल नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में बुरी तरह से हारने जा रहे हैं. एक नए मॉडल की स्टडी के मुताबिक कोरोना वायरस के संकट और उसके बाद खराब अर्थव्यवस्था की वजह से राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की बुरी तरह से हार होगी.

ऑक्सफोर्ड के अर्थशास्त्रियों ने एक नए इलेक्शन मॉडल के जरिए बुधवार को इसकी भविष्यवाणी की है. उन्होंने कहा है कि बेरोजगारी के बढ़ते दर और महंगाई की वजह से ट्रंप का दोबारा राष्ट्रपति चुना जाना मुश्किल है.

स्टडी के मुताबिक ट्रंप को सिर्फ 35 फीसदी पॉपुलर वोट हासिल होंगे. कोरोना वायरस के संक्रमण ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बड़ा झटका दिया है. कोरोना के संक्रमण से पहले की गई स्टडी में ट्रंप को 55 फीसदी वोट मिलने की भविष्यवाणी की गई थी.

1948 से इस मॉडल के जरिए होती आ रही है सटीक भविष्यवाणी

ऑक्सफोर्ड के अर्थशास्त्रियों ने कहा है कि कोरोना की महामारी की वजह से ट्रंप की ऐतिहासिक हार होगी. महामंदी की वजह से ट्रंप को बहुत बड़ा झटका लगने वाला है. रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रपति चुनावों में ट्रंप का जीतना चमत्कार ही होगा. कोरोना वायरस की वजह से ऐसा कोई जादू होना मुश्किल है.

बताया जा रहा है राष्ट्रपति चुनाव में भविष्यवाणी को लेकर अमेरिका का ये मॉडल काफी सटीक रहा है. 1948 से लेकर अब तक इस मॉडल के जरिए बिल्कुल सटीक भविष्यवाणी हुई है. सिर्फ 1968 और 1976 में इसकी भविष्यवाणी फेल रही थी.

कोरोना महामारी की वजह से ट्रंप को सबसे बड़ा झटका
अर्थशास्त्रियों ने कहा है कि चुनावों तक अमेरिकी अर्थव्यवस्था ठीक नहीं हो पाएगी. बेरोजगारी की दर 13 फीसदी से ऊपर रहेगी और घरेलू इनकम 6 फीसदी से कम रहेगी.

रिपोर्ट में कहा गया है कि अर्थव्यवस्था की हालत महामंदी से भी ज्यादा भयावह होगी. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संकट के दौरान बेरोजगारी अपने चरम पर होगी. हाउसहोल्ड इनकम 6 फीसदी से भी कम होगी, अर्थव्यवस्था पर हुई चोट ट्रंप को दोबारा चुनकर आने को नामुमकिन बना देगी.

स्टडी में कहा गया है कि इकोनॉमिक फैक्टर्स डेमोक्रेटिक पार्टी की जीत को साफ दिखा रहे हैं. हालांकि देखना होगा कि वोटर का टर्नआउट और महामारी के बाद वोटर का स्विंग किस तरह होता है.

साभार-न्यूज़ 18