भारत में क्‍यों बढ़ रहे कोरोना वायरस के मरीज, ये रही बड़ी वजह

भारत में कोरोना वायरस के मामले 1,06,750 से ज्‍यादा हो गए हैं. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (MoHFW) ने बुधवार सुबह जो आंकड़े जारी किए, उसके मुताबिक पिछले 24 घंटों में 5,611 नए केसेज आए हैं. एक दिन में कोरोना केसेज सामने आने का यह नया रेकॉर्ड है. रविवार के बाद से ही, रोज 5,000 से ज्‍यादा नए मामलों का पता चल रहा है. लॉकडाउन के बावजूद, केसेज इतनी तेजी से क्‍यों बढ़ रहे हैं? इसकी मुख्‍य रूप से तीन बड़ी वजहें हैं.

टेस्टिंग ज्‍यादा, केसेज भी ज्‍यादा
कोविड-19 के नए केसेज के पीछे भारत की बढ़ी टेस्टिंग क्षमता भी है. भारत रोज टेस्‍ट्स की संख्‍या बढ़ा रहा है. अब यह संख्‍या डेली एक लाख के पार हो गई है. एक्‍सपर्ट्स यह बात पहले से कहते आ रहे हैं कि जितनी ज्‍यादा टेस्टिंग होगी, उतने ज्‍यादा केसेज सामने आएंगे. ऐसा इसलिए क्‍योंकि अधिकतर संक्रमित मरीज एसिम्‍प्‍टोमेटिक है यानी उनमें कोरोना के लक्षण नहीं दिखते. उन्‍हें कोरोना है इसका पता केवल टेस्‍ट से लगता है. लेकिन इस दौरान वह इन्‍फेक्‍शन तो फैला ही सकते हैं. इसीलिए साइंटिस्‍ट्स और एक्‍सपर्ट्स बार-बार टेस्‍ट्स बढ़ाने की डिमांड करते हैं.

लॉकडाउन में छूट से बड़ी आवाजाही
नए केसेज तेजी से बढ़ने के पीछे लॉकडाउन में दी गई छूट भी एक बड़ी वजह है. पिछले कुछ दिनों से बड़े पैमाने पर लोगों की आवाजाही हुई है. प्रवासी मजदूर अपने राज्‍य पहुंच रहे हैं. इससे नई आबादी में कोरोना वायरस फैला है. बिहार और ओडिशा जैसे राज्‍यों का डेटा देखकर यह बात साफ पता चलती है जहां प्रवासियों के पहुंचने पर केसेज की संख्‍या अचानक से बढ़ने लगी है.

केसेज का बेसलोड लगातार बढ़ रहा
रोज नए मामले सामने आने की एक वजह लगातार बढ़ता बेसलोड है. बड़े बेसलोड से रोज भारी संख्‍या में नए इन्‍फेक्‍शंस सामने आएंगे, चाहे सर्ज हो या ना हो. ऐसे में नए इन्‍फेक्‍शंस की संख्‍या तो लगातार बढ़ रही है मगर नए केसेज का ग्रोथरेट लगभग वैसा ही बना हुआ है. बीच में तो नए केसेज की ग्रोथ रेट धीमी भी हुई थी.

टेस्टिंग में कौन सा राज्‍य आगे
तमिलनाडु ने अबतक करीब साढ़े तीन लाख टेस्‍ट किए हैं. महाराष्‍ट्र जो कि सबसे ज्‍यादा प्रभावित हैं, वहां 2,93,998 टेस्‍ट हो चुके हैं. आंध्र प्रदेश और राजस्‍थान में ढाई लाख से ज्‍यादा टेस्‍ट किए गए हैं. उत्‍तर प्रदेश दो लाख टेस्‍ट्स के करीब है जबकि कर्नाटक 1.60 लाख टेस्‍ट पूरा करने वाला है.