बड़ी खबर: कोविड-19 पर अपनी भूमिका की जांच के लिए तैयार हुआ डब्ल्यूएचओ, कई देशों ने उठाए हैं सवाल 

जिनेवा|…. विश्व स्वास्थ्य संगठन कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने में संगठन की भूमिका की जांच की ज्यादातर सदस्य देशों की मांग सोमवार को मान ली.

इस वायरस से पूरी दुनिया में 3,00,000 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और वैश्विक अर्थव्यस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. अफ्रीकी, यूरोपीय और अन्य देशों के गठबंधन कोविड-19 से निपटने में डब्ल्यूएचओ की भूमिका की स्वतंत्र जांच की मांग कर रहे हैं.

इसका उद्देश्य वायरस की उत्पत्ति के स्थल जैसे कुछ विवादित मुद्दों को छोड़कर इसकी रोकथाम के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के समन्वय से मिले सबक की समीक्षा करना है.


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया था कि उनके पास कोरोना वायरस के चीन की एक प्रयोगशाला में उत्पन्न होने का सबूत है, जबकि वैज्ञानिक समुदाय का कहना है कि अभी तक के सभी साक्ष्य यही कहते हैं कि वायरस जानवरों से मनुष्यों में सीधे आया है.

ट्रंप ने सोमवार को डब्ल्यूएचओ पर निराशाजनक काम करने का आरोप लगाया और कहा कि वह संगठन को दिए जाने वाले 45 करोड़ अमेरिकी डॉलर को घटाकर 40 करोड़ अमेरिकी डॉलर करने पर विचार कर रहे हैं.

डब्ल्यूएचओ महानिदेशक टेड्रोस अधानोम गेब्रेयसस ने कहा कि वह उचित समय देखकर जल्द से जल्द कोविड-19 से निपटने में डब्ल्यूएचओ की भूमिका की स्वतंत्र जांच शुरु करेंगे.