पुणे से उत्तराखंड ट्रक में छिपकर आ रहे थे 33 मजदूर, पुलिस ने चेकिंग के दौरान पकड़ा-ट्रक ड्राइवर फरार

कोरोना महामारी के दौरान मध्य प्रदेश के प्रवासी अपने-अपने घरों में आने के लिए लगातार कोशिशें कर रहे हैं. कई ऐसे लोग हैं जो कई दिनों से पैदल चल अपने घरों की तरफ आ रहे हैं, तो कई ऐसे लोग हैं जो ट्रकों में छिप कर पहुच रहे हैं. ऐसा ही एक मामला रविवार को रायवाला में आया, जहां पुलिस ने हरिद्वार जनपद की तरफ से आ रहे ट्रक को चेक पोस्ट में रोक कर तलाशी ली तो उसमें 33 प्रवासी मजदूर बैठे मिले. इनके पास राज्य में आने की परमिशन नहीं थी. वहीं पुलिस ने जब ड्राइवर से पूछताछ करनी चाही तो वह मौका देखकर फरार हो गया. फिलहाल उस ड्राइवर की तलाश जारी है.

जब पुलिस ने उन प्रवासी मजदूरों से पूछताछ शुरू की तो पता चला कि सभी प्रवासी महाराष्ट्र के पुणे से आये हैं, जिनमें सबसे ज्यादा 28 लोग प्रवासी टिहरी जिले के थे. चमोली जिले के 4 और रुद्रप्रयाग जिले से एक व्यक्ति था. बताया जा रहा है की ये सभी लोग पुणे में अलग-अलग सेक्टरों में काम किया करते थे लेकिन जब से कोरोना महामारी कारण लॉकडाउन शुरू हुआ तो इनके पास काम की दिक्कतें शुरू हो गयी थीं.

इसके बाद से ही ये लोग अपने घरों में आना चाह रहे थे लेकिन घर आने के लिए कोई साधन न होने के चलते इन लोगों ने ट्रक मालिक से सम्पर्क किया जिसके बाद साढ़े चार हजार प्रति व्यक्ति किराया भुगतान करने के बाद ट्रक उनको लेकर आ रहा था.

मामले में थाना इंचार्ज हेमन्त खंडूरी ने बताया कि ट्रक 13 मई को पुणे से निकला था जिसमें 33 लोग सवार थे. लेकिन इनके पास कोई भी परमिशन नहीं थी. रायवाला चेक पोस्ट पर हो रही सघन चेकिंग के चलते ट्रक को रोका गया तो ड्राइवर मौके से फरार हो गया है जिसकी तलाश जारी है. साथ ही ट्रक में आये सभी 33 लोगों का डॉक्टर्स की टीमों द्वारा मेडिकल परीक्षण करवाया जा रहा है जिसके बाद सभी को गृह जनपद के लिए भेजा जाएगा.

वहीं पुलिस ने ट्रक पर कार्रवाई करते हुए अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है जिसमें लॉकडाउन की शर्तों का उल्लंघन व यात्रियों को बिना परमिशन मालवाहक गाड़ी से परिवहन कर लाने, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करने और महामारी के दौरान बिना अनुमति के चलने पर चालक उपरोक्त के विरुद्ध धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर ट्रक को सीज किया गया.