लॉक डाउन 4.0: दो हफ्ते के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, शुरू हो सकती हैं ये सुविधाएं

देश भर में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है. 4 मई से शुरू हुआ लॉकडाउन 3.0 17 मई यानी रविवार को खत्म हो रहा है. कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार लॉकडाउन नहीं बढ़ेगा लेकिन हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में साफ कर दिया कि लॉकडाउन 4.0 होगा और ये नए रंगरूप वाला होगा.

इस लॉक डाउन को लेकर सूत्रों से जो जानकारी प्राप्त हुई है उसके मुताबिक पिछले दो लॉकडाउन की तरह ये लॉकडाउन भी दो हफ्ते के लिए बढ़ सकता है. लॉकडाउन के इस चरण में कितनी और क्या रियायतें मिलेंगी इसे लेकर जल्द ही गृह मंत्रालय की ओर से सारी जानकारी दी जाएगी.

इन कामों में दी जा सकती है ढील

सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि लॉकाडाउन के चौथे चरण में सार्वजनिक परिवहन के साधनों को लेकर छूट दी जा सकती है. इस चरण में ऑटो, बस और कैब सर्विस को मंजूरी मिल सकती है. हालांकि कंटेंनमेंट में पहले की तरह ही पाबंदियां जारी रहेंगी. चौथे चरण में ई-कॉमर्स के जरिए गैर जरूरी सामान की सप्लाई को मंजूरी मिल सकती है.

लॉकडाउन के इस चौथे चरण में स्कूल, कॉलेज, मॉल्स नहीं खोले जाएंगे लेकिन सैलून आदि को जोन के आधार पर मंजूरी मिल सकती है. हालांकि कंटेनमेंट जोन में इस पर भी पाबंदी होगी. वहीं नॉन कंटेनमेंट जोन में ऑफिस में लोगों की संख्या 33 से बढ़ाकर 50 प्रतिशत की जा सकती है.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा था कि वैज्ञानिकों के मुताबिक हमें कोरोना वायरस के साथ जीने की आदत डालनी होगी और मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर देना होगा.

इससे पहले केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार से शुरू हो रहे कोविड-19 लॉकडाउन 4.0 संबंधी दिशा-निर्देशों की घोषणा से पहले अपने मंत्रालय के अधिकारियों के साथ शुक्रवार को कई बैठकें कीं. अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को करीब पांच घंटे के लिए नॉर्थ ब्लॉक स्थित अपने कार्यालय में गृह सचिव अजय भल्ला सहित मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठकें कीं.
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी लॉकडाउन 4.0 के दिशा-निर्देशों को अंतिम रूप देने में जुटे हुए हैं.

केंद्र सरकार में बंद में छूट को लेकर चल रही बातचीत की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन-4 में पहले के चरणों की अपेक्षा लोगों को ज्यादा छूट मिलेगी और इस दौरान ग्रीन जोन को पूरी तरह खोल दिया जाएगा, ऑरेंज जोन में बेहद कम बंदिश होगी जबकि रेड जोन के निषिद्ध क्षेत्रों में ही सख्त पाबंदियां होंगी.


साभार-न्यूज़ 18