जानें पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की ये बड़ी बातें

सोमवार को देश में कोरोना वायरस के साथ जंग के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने को एक बार फिर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी ली और मुख्यमंत्रियों से राय भी ली.

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से हुई बैठक को पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संबोधित किया. भाजपा ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना, कोरोना के वास्तविक आंकड़े छिपाने का आरोप.

आइए जानते हैं इस मीटिंग की 10 बड़ी बातें—

1- बैठक में प्रधाानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकारें मिलकर कोरोना वायरस की चुनौती से निपट रहे हैं. कैबिनेट सेक्रेटरी लगातार राज्यों के सचिवों से संपर्क साधे हैं.

2- पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि अधिक फोकस रखें और सक्रियता बढ़ाएं. उन्होंने कहा कि संतुलित रणनीति बनाकर आगे बढ़ें.

3- पीएम ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि आपके द्वारा दिए गए सभी के सुझावों से ही आगे के दिशा-निर्देश निर्धारित होंगे. उन्होंने कहा कि भारत ने कोरोना संकट से अपना बचाव करने में काफी हद तक कामयाबी हासिल की है.

4- पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक सभी राज्यों ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है. लेकिन दो गज की दूरी कम हुई तो संकट बढ़ेगा.

5- उन्होंने कहा कि हम लॉकडाउन के नियमों का कैसे पालन करा रहे हैं, यह एक बड़ी बात है. इसमें हम सबकी भूमिका महत्वपूर्ण है.

6- बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे प्रयास रहे कि जो जहां है वहीं रहे. लेकिन लोगों की मजबूरियों को देखते हुए हमें अपने कुछ फैसलों में बदलाव करने पड़े.

7- प्रधानमंत्री ने कहा कि अब हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि कोरोना का संकट गांव देहातों तक न पहुंचने पाए. इस दौरान पीएम ने मुख्यमंत्रियों से आर्थिक विषयों पर भी सुझाव मांगें.

8- पीएम ने कहा कि देश में धीरे-धीरे ही सही, लेकिन निश्चित रूप से देशभर को कई हिस्सों में आर्थिक गतिविधियां रफ्तार पकड़ रही हैं. आने वाले दिनों में इसमें तेजी आएगी.

9- पीएम ने कहा सबसे पहले यह जानना होगा कि चुनौतियां क्या हैं और इसका रास्ता क्या होगा.

10- इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लीकेशन के महत्व के बारे में बताया. उन्होंन कहा कि इस ऐप को डाउनलोड करने से कोरोना वायरस के प्रसार को ट्रैक करने में मदद मिलेगी.