बड़ी खबर: आईएमडी ने बताया गिलगित-बाल्टिस्तान के मौसम का हाल, पाकिस्तान को लगी मिर्ची

भारतीय मौसम विभाग ने अपने मौसम के हाल (वेदर बुलेटिन) में पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के इलाकों को शामिल किया. शुक्रवार को आईएमडी ने गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के मौसम का हाल बताया. भारतीय मौसम विभाग ने अपने इस बुलेटिन में जम्‍मू-कश्‍मीर सब-डिविजन को अब ‘जम्‍मू और कश्‍मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्‍तान और मुजफ्फराबाद’ कहना शुरू कर दिया है. इस कदम के बाद सोशल मीडिया पर जहां भारतीय यूजर्स इसकी तारीफ कर रहे हैं, वहीं पाकिस्तान ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

उत्तर-पश्चिम डिवीजन में आते हैं पीओके के शहर
आईएमडी के मुताबिक, पीओके के शहर गिलगित, बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद आईएमडी की उत्तर-पश्चिम डिवीजन के तहत आते हैं. आईएमडी की उत्तर-पश्चिम डिवीजन में 9 सबडिवीजन हैं. इनमें जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली-चंडीगढ़-हरियाणा, पंजाब, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान और पश्चिमी राजस्थान शामिल हैं.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भारत के इस दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है, ‘पिछले साल भारत की ओर से जारी किए गए तथाकथित राजनीतिक नक्शे की तरह ही यह कदम भी पूरी तरह से अवैध, वास्तविकता के विपरीत और यूएनएससी के प्रस्तावों का उल्लंघन है. यह भारत का गैरजिम्मेदाराना व्यवहार है. पाकिस्तान भारत के इस वेदर बुलेटिन को खारिज करता है.’

हालांकि, आईएमडी के डायरेक्‍टर-जनरल मृत्‍युंजय महापात्रा ने कहा, ‘आईएमडी पूरे जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख के लिए वेदर बुलेटिन जारी करता रहा है. हम बुलेटिन में गिलगित-बाल्टिस्‍तान, मुजफ्फराबाद का जिक्र इसलिए कर रहे हैं क्‍योंकि वह भारत का हिस्‍सा है.’

पाकिस्तान ने छेड़ा कश्मीर राग
इस वेदर बुलेटिन के बहाने एकबार फिर पाकिस्तान ने कश्मीर राग छेड़ा है. पाकिस्तान ने अपने बयान में कहा है, ‘एकतरफा और गैरकानूनी कदमों से भारत जम्मू-कश्मीर के ‘विवादित’ स्टेटस को बदल नहीं सकता है. कश्मीर की यही पहचान वैश्विक समुदाय और संयुक्त राष्ट्र के सामने भी है. पाकिस्तान भारत से अपील करता है कि इस तरह के निराधार दावों से बचें.’