उत्तराखंड: तबलीगी जमात के बारे में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी पोस्ट करने के आरोप में एक शख्स गिरफ्तार

देश में कोरोना संक्रमण के बीच तबलीगी जमात का मुद्दा भी खूब छाया हुआ है, आरोप लग रहे हैं कि तबलीगी जमात के चलते कोरोना वायरस का संक्रमण देश में तेजी से फैला. इस सबके बीच तबलीगी जमात के बारे में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी पोस्ट करने और गलत अफवाह फैलाने के आरोप में उत्तराखंड में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है. मंगलवार को पुलिस ने यह जानकारी दी.

बता दें, कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही लड़ाई में मुश्किल खड़ी करने वाले जमातियों को लेकर सरकार के सख्त रुख को देखते हुए अब जमातियों के संपर्क में आए लोग सामने आने लगे हैं. इस कड़ी में उत्तराखंड सरकार के आग्रह पर देहरादून जिले के ऐसे 64 लोग सामने आए हैं, जो देहरादून के उन चार जमातियों के संपर्क में आए थे, जिन्होंने दिल्ली हजरत निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज में हिस्सा लिया था. ये चारों दिल्ली में क्वारंटाइन किए गए हैं, जिनमें से दो में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. वहीं, दिल्ली के निजामुद्दीन में जमात में शामिल ऊधमसिंहनगर के 27 लोगों को पुलिस के ट्रैकर सेल ने ट्रेस कर लिया है. अब उनका स्वास्थ्य जांच कराई जा रही है. माना जा रहा है कि इनमें से कई लोग आइसोलेट भी हो सकते हैं.

15 सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष शादाब शम्स के अनुसार इन चारों के संपर्क में आए देहरादून के 60 लोगों को परिवार सहित होम क्वारंटाइन किया जाएगा. साथ ही इनसे मिलने वाले चारों जमातियों के परिवारों को भी होम क्वारंटाइन किया जाएगा. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद देहरादून के जिलाधिकारी ने इस संबंध में मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश भी जारी कर दिए हैं. शादाब शम्स के अनुसार देहरादून के डीएल रोड, धर्मपुर, झबरावाला और लक्खीबाग 20 मार्च को इन्होंने देहरादून पल्टन बाजार मस्जिद में 60 लोगों से मुलाकात की और रात को जमात के साथ प्रदेश से चले गए. बाद में चारों जमातियों को दिल्ली में क्वारंटाइन किया गया. इनमें से दो कोरोना पॉजिटिव पाए गए. शम्स ने बताया कि दून में ये चारों जिन लोगों से मिले थे, उनकी सूची तैयार की गई. हालांकि, ये लोग सहमे हुए थे, लेकिन फिर इन्हें क्वारंटाइन करने के लिए मना लिया गया.

शम्स के अनुसार रविवार देर रात उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से बातचीत की. साथ ही सुझाव दिया कि जो 60 लोग सामने आए हैं और जिन चार जमातियों से ये मिले थे, उन्हें परिवार सहित होम क्वारंटाइन कर दिया जाए. इस दौरान इन्हें जरूरत पड़ने पर उन्हें आवश्यक सामग्री मुहैया कराने की व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने उनके सुझाव को मान लिया. शम्स ने बताया कि अब इन्हें परिवार सहित होम क्वारंटाइन करने के लिए देहरादून के डीएम ने सीएमओ को आदेश जारी कर दिए हैं. उन्होंने बताया कि सामने आए लोगों में देहरादून शहर और उससे लगे क्षेत्रों के 24, सहसपुर, विकासनगर के 24, डोईवाला के 10 लोग शामिल हैं. इनके अलावा रुड़की और ज्वालापुर के एक-एक व्यक्तियों के अलावा यूपी के सहानपुर, बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़, बागपत के आठ लोगों के नाम भी सामने आए हैं.