उत्तराखंड में छह और जमातियों में कोरोना की पुष्टि, पांच नैनीताल और एक हरिद्वार से

राज्य में छह और जमातियों में कोरोना की पुष्टि हो गई है. इसमें से पांच नैनीताल जिले के जबकि एक हरिद्वार जिले का रहने वाला है. इसके साथ ही पिछले तीन दिनों में राज्य में कोरोना पॉजीटिव जमातियों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है.

अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि शनिवार को हल्द्वानी और एम्स ऋषिकेश की लैब से कुल 59 सैंपल की रिपोर्ट मिली जिसमें से छह मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई जबकि 53 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है.

उन्होंने बताया कि शनिवार को कोरोना पॉजीटिव पाए गए सभी लोग जमाती हैं और इनमें से कुछ अस्पतालों में हैं जबकि कुछ को अब कोरनटाइन से अस्पतालों में भेजा जा रहा है. अपर सचिव पंत ने बताया कि जिन क्षेत्रों में कोरोना पॉजीटिव जमाती मिले हैं वहां सर्विलांश और निगरानी बढ़ाई जा रही है. जरूरत पड़ी तो सैंपलिंग बढ़ाई जाएगी. इसके साथ ही डॉक्टरों को लक्षण वाले मरीजों की पहचान करने और अन्य लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए जरूरी प्रयास करने को कहा गया है.

विगत दिनों पांच जमातियों में कोरोना की पुष्टि होने के बाद दून की अल्पसंख्यक समुदाय बाहुल्य बस्तियों में कोरोना संक्रमण फैलने की चिंता बढ़ गई  है.

जिला प्रशासन ने भगत सिंह कालोनी और पटेलनगर में कारगी ग्रांट में सेनेटाइजेशन करने के साथ ही कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद प्रशासन ने पॉजीटिव आए मरीजों से मिलने वाले लोगों की पहचान करने की प्रक्रिया तेज कर दी है.

वहीं जिलाधिकारी डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में आइसोलेशन और क्वारंटाइन सेंटर पर्याप्त हैं. जो भी संख्या बढ़ी हैं, उन सभी लोगों को दून अस्पताल में शिफ्ट किए गए हैं. स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल के आधार पर कार्रवाई की जा रही है. जितने भी लोग पॉजीटिव पाए गए हैं, उनसे मिलने वाले लोगों को ट्रैस किया जा रहा है.

बताया कि भगत सिंह कालोनी और कारगीग्रांट क्षेत्र में जहां भी ये लोग ठहरे थे। उन जगहों को सेनेटाइजेशन करने की प्रक्रिया चल रही है. इसमें स्वास्थ्य, पुलिस, नगर निगम व राजस्व विभाग की टीम लगी हुई और  अपना कार्य कर रही है.