कोविड-19 से बुरी तरह चपेट में हैं कई राज्य, कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे पीएम मोदी

गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत करेंगे. प्रधानमंत्री की सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुबह 11 बजे होगी. समझा जाता है कि इस बैठक में कोरोना वायरस के प्रकोप से उपजे हालात और इससे निपटने की तैयारियों का जायजा लिया जाएगा.

बता दें कि हाल के दिनों में भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में तेजी देखी गई है. पिछले 12 घंटे में 240 केस सामने आए हैं. देश में वायरस से संक्रमण की संख्या बढ़कर 1637 हो गई है जबकि 39 लोगों की जान गई है. इस दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित 133 लोगों को ठीक भी किया जा चुका है.

मरकज के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले जमात के सदस्य करीब 20 राज्यों में गए हैं. बताया जा रहा है कि ये लोग अपने राज्यों के मदरसों, स्कूलों में गए और स्थानीय लोगों के साथ संपर्क में आए. राज्य सरकारों के समक्ष अब सबसे बड़ी चुनौती इन लोगों के संपर्क में आए लोगों की पहचान करने और उन्हें क्वरंटाइन में भेजने की है. मरकज के कार्यक्रम में शरीक होने वाले छह लोगों की मौत तेलंगाना में हुई. इन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित बताया गया है. यही नहीं कार्यक्रम में शामिल हुए लोग अंडमान में भी पाए गए. यहां नौ लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई.

बुधवार को उत्तर प्रदेश में वायरस से मौत का पहला मामला सामने आया. संक्रमण से पांच सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, दिल्ली और उत्तर प्रदेश हैं. वायरस का फैलाव रोकने के लिए केंद्र सहित सभी राज्य सरकारों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. कोरोना के संदिग्ध मामलों को उपचार के लिए अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है. राज्य अपने यहां इमारतों एवं कार्यालयों को सेनिटाइज कर रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कोविड-19 के मरीजों का इलाज करते समय यदि किसी डॉक्टर, नर्स अथवा सफाईकर्मी की मौत होती है तो उनकी सरकार पीड़ितों के परिजन को एक करोड़ रुपए का मुआवजा देगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की यह योजना निजी एवं सरकारी दोनों क्षेत्र पर लागू होगी.

इस बीच गौतम बुद्ध नगर में बुधवार को कोरोना के छह और नए मामलों का पता चला. यहां अब संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 45 हो गई है. मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनुराग भार्गव ने बताया कि बुधवार सुबह आई रिपोर्ट के अनुसार चार लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. उन्होंने बताया कि देर रात आई एक अन्य रिपोर्ट में सेक्टर 28 व सेक्टर 37 में रहने वाले दो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. यूपी के मेरठ और गाजियबाद से संक्रमण के ज्यादा मामले सामने आए हैं.

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री की यह बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. देश के सभी राज्य कोरोना के प्रकोप का सामना कर रहे हैं. लॉकडाउन के दौर से गुजर रहे देश में तेजी से सामने आ रहे कोरोना के नए मामले सरकार की चिंताओं को बढ़ा रहे हैं. इस बीच, दिल्ली के मरकज निजामुद्दीन से संक्रमण के हुए फैलाव ने वायरस के खिलाफ सरकार के अभियान को झटका दिया है. मध्य मार्च में तबलीगी जमात के धार्मिक कार्यक्रम में विदेशी नागरिकों सहित करीब 4000 लोग शामिल हुए. मरकज के 24 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है.