केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, 8वीं तक के सभी बच्चों को शिक्षा अधिकार के तहत किया जाएगा अगली कक्षा में प्रमोट

कोरोना वायरस की वजह से दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि कक्षा 8वीं तक के सभी बच्चों को शिक्षा अधिकार के तहत ‘नो डिटेंशन पोलिसी’ के अनुसार अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा. जबकि नर्सरी से लेकर कक्षा 8वीं के बच्चों को प्रत्येक दिन एक एक्टिविटी / प्रोजेक्ट उनके माता-पिता को एसएमएस और रिकॉर्ड किए गए फोन कॉल के जरिए से भेजे जाएंगे.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह ऐलान किया है कि दिल्ली के नर्सरी से लेकर 8वीं तक के सभी सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही पास किया जाएगा.

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि 12वीं कक्षा के विद्यार्थियोंके लिए प्रतिदिन दो सब्जेक्ट्स की ऑनलाइन क्लास होंगी.

इसके लिए बच्चों को इंटरनेट प्लेटफॉर्म पर जाकर रजिस्टर करना होगा। हम बच्चों को एसएमएस के द्वारा इसका लिंक भेज देंगे. ऑनलाइन क्लास दिल्ली सरकार की स्कूल के शिक्षक लेंगे, जो रजिस्टर करेंगे उनके डेटा का पैसा सरकार देगी.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि कोरोना वायरस के कारण देश में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है. भारत में यह लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म होगा। लॉकडाउन की वजह से स्कूलों की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी. ऐसे में कई राज्यों ने आठवीं तक के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा में प्रमोट करने का ऐलान किया था. अब केजरीवाल सरकार ने भी इस बात का ऐलान कर दिया है.