50 लाख का बीमा, 3 महीने मुफ्त सिलेंडर, अप्रैल से 2000 रुपये सीधे खाते में- जानिए वित्त मंत्री की बड़ी घोषणाएं

गुरुवार को कोरोना वायरस के चलते भारत में लॉकडाउन का दूसरा दिन है. इस जानलेवा वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 650 हो गई है. देश को कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाने के लिए कई आर्थिक मदद के ऐलान किए जा रहे हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर कहा है कि सरकार गरीबों की मदद के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये का पैकेज लेकर आई है. गरीब कल्याण स्कीम के तहत डायरेक्ट कैश ट्रांसफर होगा और लोगों को खाद्य सुरक्षा दी जाएगी. उन्होंने कहा कि 24-25 की रात को लॉकडाउन शुरू किया गया है. सरकार प्रभावितों और गरीबों की मदद के लिए काम कर रही है. हमें उनतक पहुंचना है. केवल 36 घंटे हुए हैं। हम पैकेज लेकर आए हैं, जो गरीबों का ध्यान रखेगा, जिन्हें तुरंत मदद की जरूरत है.

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि जो लोग इस जंग को लड़ रहे हैं, चिकित्सा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं उन्हें 50 लाख का लाइफ इंश्योरेंस दिया जाएगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों की संख्या आती है.

सुनिश्चित किया जाएगा कि एक भी व्यक्ति बिना भोजन के न रहे. हर व्यक्ति को 5 किलो चावल और गेहूं अतिरिक्त दिया जाएगा. यह तीन महीने तक दिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों की संख्या आती है.

सुनिश्चित किया जाएगा कि एक भी व्यक्ति बिना भोजन के न रहे। हर व्यक्ति को 5 किलो चावल और गेहूं अतिरिक्त दिया जाएगा। यह तीन महीने तक दिया जाएगा.

विस्‍तार से जानिए आर्थिक मदद के लिए और क्‍या-क्‍या ऐलान किया वित्त मंत्री ने

महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को दीनदयाल योजना के तहत उनको 20 लाख तक का लोन दिया जाएगा, यह अमाउंट पहले 10 लाख था.

स्वयं सहायता योजना: 63 लाख SHG को बिना गिरवी का लोन 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख कर दिया गया है.
उज्जवला योजना: अगले तीन महीने तक मुफ्त में रसोई गैस सिलेंडर मिलते रहेंगे, अन्न, धन और गैस की चिंता से मुक्त करने की कोशिश.

जन धन योजना: 20.5 करोड़ महिलाओं के खाते में 500 रुपए प्रति माह तीन महीने तक अतिरिक्त पैसा दिया जाएगा.

दिव्यांग, वृद्ध और विधवा: 1 हजार रुपए अतिरिक्त अगले तीन महीने तक दो किस्तों में मिलेगा, करीब 3 करोड़ लोगों को इसका फायदा मिलेगी. ये पैसा सीधा उनके खातों में जाएगा.

मनरेगा: मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है. पांच करोड़ लोगों को इसका फायदा होगा और प्रति माह 2 हजार की उनकी आय बढ़ेगी.