कोरोना वायरस के चलते एक साल के लिए टाला गया टोक्यो ओलिंपिक

कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से टोक्यो ओलिंपिक 2020 (Tokyo Olympics) एक साल के लिए टल गया है. जापान के पीएम शिंजो आबे ने इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (आईओसी) से फोन पर बात की और इसके बाद टोक्यो ओलिंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया. टोक्यो ओलिंपिक को टालने का काफी ज्यादा दबाव था और कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड जैसे बड़े देशों ने मौजूदा स्थिति में इसमें हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था.

टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) खेलों का आयोजन इस साल 24 जुलाई से लेकर 9 अगस्त तक किया जाना था. ओलिंपिक खेलों की मशाल ग्रीस से कुछ दिन पहले ही टोक्यो पहुंची थी. अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिरी अगले साल ओलिंपिक कब से कब तक आयोजित किया जाएगा.

3 बार रद्द हो चुके हैं ओलिंपिक
बता दें पहली बार किसी महामारी के चलते ओलिंपिक खेलों को टाला गया है. हालांकि इससे पहले ओलिंपिक खेल 3 बार रद्द हो चुके हैं.

1916 बर्लिन ओलिंपिक: इतिहास में पहली बार 1916 में ओलिंपिक रद्द हुए थे. प्रथम विश्व युद्द के कारण इस ओलिंपिक को रद्द करना पड़ा था. 4 जुलाई 1912 को आईओसी (IOC) की मीटिंग में बर्लिन ने बड़े-बड़े देशों को मात देकर मेजबानी हासिल की थी. मगर प्रथम विश्व युद्द के कारण यह ओलिंपिक रद्द हो गया ‌था. इसके 20 सालों बाद बर्लिन ने 1936 समर ओलिंपिक का आयोजन किया. दूसरे विश्व युद्द से पहले यह आखिरी ओलिंपिक था.

1940 टोक्यो ओलिंपिक: 1940 में 21 सितंबर से 6 अक्टूबर तक टोक्यो में 12वें ओलिंपिक का आयोजन होना था, मगर इसके बाद इसे पुननिर्धारित करके 20 जुलाई से 4 अगस्त के बीच फिनलैंड में आयोजित करवाने का फैसला लिया गया. मगर दूसरे विश्व युद्द के कारण आखिरकार इस ओलिंपिक को रद्द ही करना पड़ा. इसके बाद फिनलैंड ने 1952 में और टोक्यो ने 1964 में समर ओलिंपिक की मेजबानी की.

1944 लंदन ओलिंपिक: 13वें ओलिंपिक की मेजबानी लंदन को मिली थी, मगर दूसरे विश्व युद्द (World War) के चलते यह ओलिंपिक भी रद्द हो गए थे. इसके बाद लंदन ने 1948 ओलिंपिक की मेजबानी की थी.