उत्तराखंड: कोरोना वायरस की दहशत और अफवाह फैलाना पड़ा भारी, एफआईआर दर्ज

कोरोना वायरस की दहशत और अफवाह फैलाने के मामले में ऊधमसिंह नगर जिले में नौ लोग और चम्पावत जिले में एक महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. ऊधमसिंह नगर में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनमें सात आरोपी एक ही मोहल्ले के हैं, जिन्होंने देर रात क्षेत्र में लाठियां पीटते हुये लोगों को कोरोना का डर दिखाते हुये जागते रहने को कहा. नगर के रम्पुरा क्षेत्र के रेशमबाड़ी में रविवार रात 12 बजे से सोमवार तड़के तीन बजे तक मोहल्ले के ही कुछ युवक बाइकों पर घूमते रहे. ये लोग मोहल्ले में लोगों के घरों के दरवाजे पीटते रहे और लाठियां पटकते रहे. वे सभी लोगों से जागते रहने की ताकीद करते रहे और उनका यह भी कहना था कि जो सोया है, वह सोया ही रह जायेगा.

इससे क्षेत्र में दहशत फैल गयी और लोग सो नहीं सके. इस बीच सूचना पर रंपुरा चौकी प्रभारी केजी मठपाल पुलिस टीम संग मोहल्ले में पहुंचे. पूछताछ में लोगों ने सात युवकों के नाम बताये. इसके बाद पुलिस ने रेशमबाड़ी निवासी कल्लू उर्फ भारत, अंकित, शिवलाल, अंकित, अमन, अभिषेक गोस्वामी, मिंकल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. पुलिस सात के अलावा अन्य युवकों को चिह्नित करने में जुट गयी है.

दूसरी ओर, ट्रांजिट कैंप में भी कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में पुलिस ने मुकेश हालदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. एसओ वीडी जोशी ने बताया कि आरोपी फिलहाल फरार है, उसकी तलाश की जा रही है. रुद्रपुर के सीओ अमित कुमार का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाने के मामले सामने आये हैं. ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जायेगा. लोगों से अपील है कि वे सावधान रहें .

सोशल मीडिया पर अफवाह की पोस्ट पड़ी भारी
गदरपुर. क्षेत्र में सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर भ्रामक संदेश फॉरवर्ड करना युवक को भारी पड़ गया. जानकारी के अनुसार शनिवार को एलआईयू एसआई मोहम्मद रिजवान खान को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट नजर आयी. इसमें एक क्षेत्र में कोरोना से हुयी कई मौतों का जिक्र किया गया था, लेकिन इसमें दी गयी जानकारी भ्रामक और दहशत फैलाने वाली थी. सूचना पर पुलिस ने भोला कॉलोनी निवासी विनोद को गिरफ्तार कर लिया. एसओ जसविंदर सिंह ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया.

टनकपुर में महिला ने फैलाई अफवाह
टनकपुर. संयुक्त चिकित्सालय टनकपुर में मॉक ड्रिल के दौरान की एक फोटो को कोरोना वायरस से ग्रसित मरीज बताकर इसे फेसबुक पर अपलोड करने पर पुलिस ने एक महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. महिला ने अपनी फेसबुक आईडी पर वीडियो वायरल किया था. संयुक्त चिकित्सालय में रविवार को चिकित्सकों ने कोरोना वायरस के मरीज से निपटने के लिए मॉक ड्रिल कराई थी. इस घटना को वहां उपस्थित कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. जिसे दीपाली जोशी ने अपने फेसबुक आईडी पर अपलोड कर दिया था. कोतवाल धीरेंद्र कुमार ने बताया कि सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. एसपी चम्पावत लोकेश्वर सिंह ने कहा कि समाज में दहशत फैला रहे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

अफवाह फैलाने में दो पर मुकदमा
अफवाह फैलाने के कारण रविवार की रात कई लोग जगे रहे. पुलिस ने लोगों को जाकर जागरूक भी किया. रानीपुर क्षेत्र में पुलिस को सड़कों से लोगों को भगाने के लिए लाठियां तक फटकारनी पड़ गई. पुलिस ने सोमवार को दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस के मुताबिक पदम कुमार पुत्र स्व. सिमरू सिंह मूल निवासी ग्राम चमरीखेड़ा फतेहपुर सहारनपुर यूपी हरिद्वार शिवलोक कॉलोनी में रहकर एचआरडीसी में चौकीदारी करते है. पदम कुमार ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया हुआ है. बीते रविवार को अनुज कुमार ने एक फोटो और कुछ ऑडियो क्लिप ग्रुप में भेज दी. इसमें कुछ महिला और पुरुष मृत दिखाए गए और सूचना प्रसारित कर दी गई कि एक्कड़ गांव में परिवार के साथ हादसा हुआ है.

बिजनौर में भी इस तरह का हादसा होना बताया गया. अफवाह फैलाई गई कि जो लोग रात को सोएंगे तो पत्थर के हो जाएंगे. इसी अफवाह के कारण लोग रात को ही जग गए. रात भर नहीं सोए. ज्वालापुर, रानीपुर विष्णुलोक कॉलोनी समेत अन्य जगह लोग बाहए आ गए. ब्रह्मपुरी में लोगों में भगदड़ की स्थिति बन गई. रानीपुर पुलिस को विष्णुलोक कॉलोनी में पुलिस को लाठियां फटकारनी पड़ी. सोमवार को पुलिस ने झूठी अफवाह फैलाने वाले अनुज कुमार और पदम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि किसी को भी बख्शा नहीं जाएग. झूठी सूचना देने वालों पर कार्रवाई होगी.

युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया
हरिद्वार. ज्वालापुर पुलिस ने धार्मिक उन्माद भड़काने पर पांवधोई निवासी एक युवक के खिलाफ केस दर्ज किया है. आरोप है कि युवक ने वर्ग विशेष को भड़काने के लिए प्रेरित करने वाली पोस्ट सोशल मीडिया पर अपलोड की. रविवार को पांवधोई ज्वालापुर निवासी युवक ने सोशल मीडिया पर धार्मिक स्थल पर एक टिप्पणी की थी. पुलिस ने इसका संज्ञान लेते हुए युवक के खिलाफ केस दर्ज किया है. पुलिस जांच पड़ताल कर रही है.

मंगलौर में अफवाह फैलाने पर केस दर्ज
मंगलौर. कोरोना वायरस के मरीजों की झूठी अफवाह फैलाने वाले बाज नहीं आ रहे हैं. फहीम बेग निवासी मोहल्ला मलानपुरा कोतवाली मंगलौर ने पुरानी फोटो लगाने के साथ सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस से छह लोगों की मरने की झूठी पोस्ट कर दी. इंस्पेक्टर मंगलौर प्रदीप चौहान ने बताया कि ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. आरोपी दुराचार के मामले में इस समय जमानत पर चल रहा है.

रातभर उड़ती रही अफवाह
भगवानपुर. देहात क्षेत्र में रात भर अफवाह चलती रही. कस्बे में अफवाह फैली की फोन करने वाले बता रहे हैं कि उन्हें किसी ने सूचना दी कि रात भर जागते रहो. सोने पर पत्थर बनने की अफवाह फैल गई. वहीं, लंढौरा में कोरोना वायरस को लेकर कई तरह की अफवाह फैलने से लोग परेशान नजर आए.