शाहीन बाग: दिल्‍ली पुलिस ने प्रदर्शन स्‍थल को कराया खाली, टेंट भी उखाड़े

दिल्‍ली पुलिस ने शाहीन बाग में प्रदर्शन स्‍थल को खाली करवा दिया है. तीन महीने से भी ज्‍यादा समय के बाद वहां मौजूद सभी लोगों को मंगलवार को हटाया गया है. इसके अलावा वहां लगे टेंट भी उखाड़ दिए गए. इसके लिए जेसीबी का इस्‍तेमाल किया जा रहा है.

इससे पहले डीसीपी (साउथ ईस्ट दिल्‍ली) ने बताया कि शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों से कोरोना के कारण धरनास्थल से बाहर निकलने का अनुरोध किया गया था, लेकिन इस पर कोई अमल न होने पर पुलिस ने जगह को खाली कराने का कदम उठाया.

हालांकि, लॉकडाउन के चलते प्रदर्शन स्थल पर कम लोग ही पहुंच रहे थे. जनता कर्फ्यू के दिन यहां पर सिर्फ तीन महिलाएं देखी गईं थीं. तीन महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त के बाद इस रूट को खाली करवाया जा सका है. बता दें कि सीएए और एनआरसी के खिलाफ यहां महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं.

दक्षिण-पूर्वी दिल्‍ली के डीसीपी आरपी मीणा ने बताया कि शाहीन बाग में विरोध-प्रदर्शन कर रहे लोगों से वहां से हटने का अनुरोध किया गया था, लेकिन वे नहीं माने. इसके बाद गैरकानूनी तरीके से इकट्ठा होने के कानून की अवहेलना करने के मामले में कार्रवाई की गई. उन्‍होंने बताया कि प्रदर्शन स्‍थल को क्लियर कर दिया गया है और कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया है. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मौके पर बड़ी तदाद में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है.

इससे पहले शाहीन बाग में स्थित धरनास्‍थल पर 22 मार्च को बाहरी लोगों के आने पर रोक लगा दी गई है. इसके लिए जगह-जगह पर बैरिकेडिंग भी की गई. इस पर लिखा था, ‘रात 9 बजे के बाद प्रवेश होगा, धरना जारी है.’