संकट की घड़ी’ में जननेता बनकर उभरे यूपी सीएम, कोरोना को मात देने के लिए तैयार किया ‘योगी मॉडल’

पूरे विश्‍व में इस समय जिस चीज की चर्चा है, वो है कोरोना वायरस. एक ऐसा वायरस जो चीन के वुहान शहर में पैदा हुआ और इसने पहले पूरे चीन को अपनी चपेट में लिया और इटली होते हुए दुनिया के बाकी देशों में कहर बरपाना शुरू किया.

दुनियाभर में 3 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले चुका यह वायरस 13 हजार से ज्यादा इंसानों का जीवन समाप्‍त कर चुका है. भारत में भी इसने पांव पसार लिए हैं. यहां अभी तक कुल 324 मामले सामने आए हैं.

कोरोना के कहर को रोकने के लिए भारत सरकार और सभी प्रदेश सरकारें हर संभव कदम उठा रही हैं. 22 मार्च को पूरे देश में सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू भी अमल में है. राज्‍यों की बात करें तो महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे अधिक 63 मामले सामने आए हैं.

वहीं केरल में 40, दिल्ली में 26 और जनसंख्‍या की दृष्टि से देश के सबसे बड़े राज्‍य उत्तर प्रदेश में 24 मामले सामने आ चुके हैं.

यूपी की राजधानी लखनऊ में बॉलीवुड सिंगर कन‍िका कपूर को कोरोना होने की पुष्टि हुई और उनके द्वारा की गई पार्टी में कई नामचीनों के शामिल होने की खबर के बाद प्रदेश की योगी सरकार एक्‍शन में आ गई.

यूपी की जनता से मैं आह्वान करता हूँ कि सभी नागरिक इस देशव्यापी जनता कर्फ्यू अभियान का हिस्सा बनें और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं.

कोरोना वायरस को मात देने के लिए योगी आदित्‍यनाथ ने कड़े फैसले ल‍िए हैं. अगर जरूरत पड़ी तो जनता कर्फ्यू को और बढाया जा सकता है. प्रदेश के तीन शहर लखनऊ, कानपुर और नोएडा को सेनेटाइज किया जाएगा.

पूरे प्रदेश का स्‍वास्‍थ्‍य विभाग हाई अलर्ट पर है और खुद सीएम योगी आदित्‍यनाथ नजर बनाए हुए हैं. अपने मंत्रियों को उन्‍होंने आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी है.