कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुट दिखा देश, पांच बजे ताली बजाकर बढ़ाया उत्साह

कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का व्यापक असर पड़ा है. जनता कर्फ्यू के सफल बनाने के बाद लोगों ने ठीक पांच बजे ताली बजाकर और थाली पीटकर एकजुटता दिखायी. विकट परिस्थितियों में कार्य करने वाले डॉक्टर, पुलिस, सेना, प्रशासन और मीडिया के सम्मान में पांच बजे ताली बजायी गईं. इसके साथ एक-दूसरे का उत्साह बढ़ाया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 मार्च को राष्ट्र के नाम संबोधन दिया. इस दौरान 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील की. इसके साथ ही विकल परिस्थितियों में कार्य करने वाले लोगों के सम्मान में ठीक पांच बजे ताली बजाने और थाली पीटने का आह्वान किया. इसके बाद रविवार ठीक शाम पांच बजे लोगों ने घर की बालकॉनी में आकर तालियां बजायीं.

प्रधानमंत्री की अपील का असर डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर और चैनलों के ऊपर भी पड़ा. ठीक पांच बजे सभी प्रकार के प्रसारण रोक दिए गए. जिसके बाद एक विशेष प्रकार की ट्यून बजायी गई. जिसमें ताली पीटने की आवाज सुनाकर लोगों को याद दिलाया गया. साथ ही अपनी तरफ से विकट परिस्थितियों में हमें सुरक्षित रखने वाले लोगों को सम्मान दिया.सके अलावा थालियां भी पीटीं.

देशभर में कोरोना वायरस को लेकर कोई डर का माहौल नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद अति उत्साह में लोग पटाखे फोड़ने लग गए. जानकारी के मुताबिक नोएडा के कई हिस्सों में शाम पांच बजे पटाखे फोड़े गए. इसके अलावा काफी देर तक आतिशबाजी की गई. नोएडा की तरह दिल्ली के भी कई हिस्सों में पटाखों की आवाजे सुनायी दीं.