कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए उत्तराखंड बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा रद्द 

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए उत्तराखंड बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा रद्द कर दी गई हैं. उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद ने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की आगामी 23, 24, 25 मार्च की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं.

बोर्ड सचिव नीता तिवारी ने बताया, कोरोना को लेकर 23 मार्च में हाई स्कूल की गणित, 24 में उर्दू, 25 तारीख में पंजाबी, बंगाली व संस्कृत, जबकि इंटरमीडिएट में 23 मार्च को संस्कृत, उर्दू, पंजाबी, 24 को कृषि, गणित, प्रारंभिक सांख्यिकी, 25 मार्च को भूगोल व भूगर्भ विज्ञान की परीक्षा स्थगित की गई है.

कोरोना के खतरे को देखते हुुए कराई गई छुट्टी के बाद भी देहरादून के कुछ स्कूल खुल रहे हैं. ऐसे ही दो स्कूलों को मुख्य शिक्षा अधिकारी (सीईओ) आशारानी पैन्यूली ने शनिवार को नोटिस जारी किए. उन्होंने तत्काल स्कूल बंद कराए और दोबारा खोलने पर प्रबंधकों को मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी.

प्रदेश सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को 31 मार्च तक बंद करने के निर्देश दिए हैं. उसके बावजूद कुछ स्कूल संचालक छुट्टियां नहीं कर रहे हैं. शनिवार को मोहनपुर, प्रेमनगर स्थित दून लॉरेल्स एकेडमी और भगवंतपुर सलान गांव स्थित जॉन मार्टिन स्कूल में नियमित कक्षाएं संचालित होने की जानकारी मिली.

इस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी आशारानी पैन्यूली ने खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) सहसपुर पंकज शर्मा को कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

जांच के दौरान दोनों स्कूल खुले मिले. इस पर बीईओ ने तत्काल दोनों स्कूलों को बंद कराया और दोबारा खोलने पर मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि स्कूल खोलकर प्रबंधन बच्चों और शिक्षकों की जान खतरे में डाल रहा है.

छुट्टी होने और चेतावनी के बाद भी शहर के कुछ बोर्डिंग स्कूल कक्षाएं चला रहे हैं. सहस्त्रधारा रोड स्थित एक ऐसे ही स्कूल की शिकायत शनिवार को डीएम डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव और सीईओ आशारानी पैन्यूली के पास पहुंची.

जिलाधिकारी ने सीईओ को तुरंत इनका संचालन बंद कराने और स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए. वहीं, अन्य बोर्डिंग स्कूल को भी हॉस्टल में किसी तरह की गतिविधि आयोजित न करने के निर्देश दिए हैं.