जानें कौन सा है वॉट्सऐप का फीचर जिसके चलते ब्लॉक हो सकता है आपका अकाउंट

मोबाइल मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप स्मार्टफोन यूजर्स के बीच खूब लोकप्रिय है. यूज़र्स इस ऐप से अपने दोस्तों और परिवारजनों को आसानी से मैसेज भेज सकते हैं. इस ऐप पर हुई उनकी इस बातचीत की प्राइवेसी भी बरकरार रहती है. वॉट्सऐप का कहना है कि यूज़र्स के मैसेज को उनके अलावा कोई दूसरा नहीं पढ़ सकता है. वॉट्सऐप का कहना है कि ऐप की सर्विस और शर्तें ऐसे तैयार की गई हैं, ताकि प्लेटफॉर्म पर सभी यूज़र्स सिक्योर रहें. वॉट्सऐप का इस्तेमाल कैसे करें इसलिए कंपनी ने कुछ नियम तैयार किए गए हैं ताकि सभी यूज़र्स वॉट्सऐप का ज़िम्मेदारी से इस्तेमाल कर सकें. वॉट्सऐप का कहना है कि चाहे यूज़र आम नागरिक हो, सरकारी अफसर या राजनैतिक पार्टी से हो, सभी को इन नियमों को ध्यान में रखकर ही वॉट्सऐप का इस्तेमाल करना चाहिए.

अनचाहे, ऑटोमेटेड या बल्क मैसेज न भेजें:
वॉट्सऐप से अनचाहे, ऑटोमेटेड या बल्क मैसेज भेजने की गलती से बचें. वॉट्सऐप मशीन लर्निंग टेक्नोलॉजी और अपने यूज़र्स से मिली रिपोर्ट के ज़रिए ऐसे अकाउंट का पता लगाता है जो अनचाहे मैसेज भेजते हैं, इसके बाद कंपनी ऐसे अकाउंट को बैन कर देती है. यूज़र्स को सिस्टम के ज़रिए संपर्क करना भी इसी में शामिल है. अमान्य या ऑटोमेटेड तरीकों से अकाउंट या ग्रुप न बनाएं. साथ ही वॉट्सऐप के किसी बनावटी वर्जन का इस्तेमाल न करें.

ऐसी कॉन्टैक्ट लिस्ट का इस्तेमाल न करें जो आपकी ना हो:
कभी भी लोगों की परमिशन के बिना उनका फ़ोन नंबर किसी के भी साथ शेयर न करें या अमान्य तरीकों (जैसे कि लोगों की संपर्क सूची को खरीदना) से यूज़र्स को वॉट्सऐप पर मैसेज ना भेजें.

ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल न करें: वॉट्सऐप की दी गई जानकारी के मुताबिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट के ज़रिए आप सिर्फ उन्हीं कॉन्टैक्ट को मैसेज भेज सकते हैं, जो आपकी लिस्ट में हैं. वॉट्सऐप ने अपने एफएक्यू पेज पर बताया कि अगर आप यूज़र ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल करेंगे, तो बाकी यूज़र्स आपके मैसेज की रिपोर्ट कर सकते हैं. जिन अकाउंट की कई बार रिपोर्ट की जाती है उन अकाउंट को वॉट्सऐप ब्लॉक कर देता है.

वॉट्सऐप सर्विस की शर्तों का उल्लंघन न करें:
वॉट्सऐप कहता है कि ये यूज़र्स के लिए एक रिमाइंडर की तरह है कि वॉट्सऐप सर्विस की शर्तें अन्य बातों के साथ-साथ झूठ को प्रकाशित करने और अमान्य, धमकी, डराने, घृणित और नस्ल या जातीय रूप से अप्रिय व्यवहार पर रोक लगाती है. सेवा की शर्तें आपका वॉट्सऐप के साथ रिश्ता बताती है और अगर सेवा की शर्तों के साथ किसी भी तरह का उल्लंघन होता है, तो उसके लिए कदम उठाती है.

वॉट्सऐप के पॉलिसी में लिखा है कि वॉट्सऐप की थर्ड पार्टी ऐप जीबी वॉट्सऐप और वॉट्सऐप प्लस इस्तेमाल करने पर वॉट्सऐप यूज़र को ‘टेम्पररी बैन कर देता है. तो अगर आप भी ऐसी ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं. वॉट्सऐप के एफएक्यू पेज पर दी जानकारी के मुताबिक कंपनी ऐसा इसलिए करती है क्योंकि ये दोनों वॉट्सऐप के ऑफिशियल वर्जन नहीं बल्कि थर्ड पार्टी ऐप्स हैं. ये अनऑफिशियल ऐप्स थर्ड पार्टी की बनाई हुईं हैं और ये वॉट्सऐप के नियमों का उल्लंघन करती है और वॉट्सऐप इन्हें सपोर्ट नहीं करता है.