कोरोना वायरस का असर अब खेल के मैदान पर भी दिखा, आईपीएल 15 अप्रैल तक के लिए स्थागित

बीसीसीआई ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगमी सीजन को 15 अप्रैल तक के लिए स्थागित कर दिया है. पहले यह टूर्नामेंट 29 मार्च से होना था लेकिन कोरोनोवायरस के कारण इसे स्थागित करने का फैसला लिया है और अब इसकी शुरुआत 15 अप्रैल से होगी.

फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है. बीसीसीआई ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि की. बीसीसीआई ने बयान में इस स्थागन की वजह कोरोनोवायरस बताई है. पहले यह टूर्नामेंट 29 मार्च से शुरू होना था.

बयान में लिखा है, “बीसीसीआई ने आईपीएल के आगामी सीजन को 15 अप्रैल तक स्थागित करने का फैसला किया है. यह फैसला कोरोनोवायरस के कारण फैली स्थिति के कारण लिया गया है.”

बीसीसीआई ने बयान में लिखा, “बीसीसीआई अपने सबी हितधारकों को लेकर चिंतित है, इसे बड़े पैमाने पर देखा जाए तो सामाजिक स्वास्थ को लेकर. हम इस बात को सुनिश्चित करने को लेकर सभी कदम उठा रहे हैं कि आईपीएल से जुड़े सभी लोगों, जिनमें प्रशंसक भी शामिल हैं, को सुरक्षित माहौल मिले.”

बयान में आगे लिखा है, “बीसीसीआई भारतीय सरकार, खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय, स्वास्थय मंत्रालय सभी जरूरी केंद्रीय मंत्रालय और राज्य सरकार के साथ इस संबंध में बातचीज कर रही है.”

सरकार ने बुधवार को कुछ अधिकारियों को छोड़कर सभी विदेशी वीजा को 15 अप्रैल तक के लिए रद्द करने का फैसला किया है. दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को ही साफ कर दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी में आईपीएल के मैच आयोजित नहीं किए जाएंगे. बीसीसीआई और आईपीएल टीम के मालिकों की शनिवार को बैठक होनी है.

फ्रेंचाइजियां बिना दर्शकों के मैचों के आयोजन को लेकर तैयार हैं, वह हालांकि अपने विदेशी खिलाड़ियों को इस लीग में चाहती हैं.

फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा, “हां, हमें बता दिया गया है कि आईपीएल अब 15 अप्रैल से शुरू होगा, लेकिन हमें विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता को लेकर सफाई चाहते हैं. अगर हमारे चार विदेशी खिलाड़ी नहीं होंगे तो आईपीएल अपना वर्चस्व खो देगा क्योंकि भारतीय सितारों की तरह ही वह भी हमारी टीम का अहम हिस्सा हैं.”