शाहीन बाग: दिल्ली पुलिस ने पीएफआई पर कसा शिकंजा, अध्यक्ष परवेज और सचिव इलियास गिरफ्तार

दिल्ली हिंसा मामलों की जांच कर रही पुलिस की स्पेशल सेल ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के अध्यक्ष परवेज और सचिव इलियास को गिरफ्तार किया है. फिलहाल पुलिस इन दोनों लोगों से पूछताछ कर रही है. दोनों पर ही हिंसा भड़काने का आरोप है और शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को फंडिग करने का भी आरोप है. इससे पहले स्पेशल सेल ने पीएफआई के सदस्य दानिश को भी अरेस्ट किया था.

आपको बता दें कि उत्तर पूर्व दिल्ली के कई इलाकों में 23 से 25 फरवरी के बीच बड़े पैमाने पर हिंसा हुई जिसमें 50 से अधिक लोगों की मौत हुई. इसके बाद जब दिल्ली पुलिस ने अपनी जांच शुरू की तो इसके तार पीएफआई से जुड़ते नजर आए. तीन दिन पहले दिल्ली पुलिस ने पीएफआई के संदिग्ध दानिश को गिरफ्तार किया है. दानिश से पूछताछ के आधार पर ही आज इलियास और परवेज की गिरफ्तारी हुई है.

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने दिल्ली दंगों के सिलसिले में निलंबित आप पार्षद ताहिर हुसैन, इस्लामी समूह पीएफआई तथा कुछ अन्य के खिलाफ धनशोधन और दंगों के लिए कथित तौर पर पैसा मुहैया करवाने का मामला दर्ज किया. पीटीआई के मुताबिक, हुसैन के खिलाफ केंद्रीय जांच एजेंसी ने मामला धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया है. हुसैन पर पिछले महीने उत्तरपूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान खुफिया ब्यूरो के एक कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या का भी आरोप है.

इससे पहले पीएफआई पर भी धन शोधन का मामला भी दर्ज किया गया था. यह संगठन देश के विभिन्न हिस्सों में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों को कथित तौर पर बढ़ावा देने संबंधी एक पीएमएलए जांच का सामना पहले से कर रहा है. पीएफआई पर आरोप है कि उसने देश में सीएए विरोधी प्रदर्शनों को बढ़ावा देने के लिए कथित तौर पर 120 करोड़ रूपये मुहैया करवाए. एजेंसी बीते पखवाड़े में संगठन के कई पदाधिकारियों से पूछताछ कर चुकी है.