भाजपा नेताओं ने 19 विधायकों के इस्तीफे विधानसभाध्यक्ष को सौंपे

मंगलवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद 19 सिंधिया समर्थक विधायकों ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है.

इन विधायकों के इस्तीफे की मूल प्रति भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभाध्यक्ष एन.पी. प्रजापति को सौंपे. भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह कांग्रेस के 19 विधायकों के इस्तीफों की मूल प्रतियां लेकर भोपाल पहुंचे. सिंह ने अन्य भाजपा नेताओं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, बृजेंद्र सिंह के साथ विधानसभाध्यक्ष एन.पी. प्रजापति के आवास पर पहुंचकर विधायकों के इस्तीफे की मूल प्रति सौंपी.

सिंह ने इस्तीफा देने वाले विधायकों के नाम और उनके त्यागपत्र का जिक्र किया. सिंह ने बताया कि मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, तुलसी सिलावट, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसौदिया के अलावा विधायक हरदीप सिंह डंग, जसपाल सिंह जज्जी, राजवर्धन सिंह, ओपीएस भदौरिया, मुन्ना लाल गोयल, रघुराज सिंह कंसाना, कमलेश जाटव, बृजेंद्र सिंह यादव, सुरेश धाकड़, गिरराज दंडौतिया, रक्षा संतराम सिरौनिया, रणवीर जाटव, जसवंत जाटव के इस्तीफे दिए हैं. इन विधायकों के त्यागपत्र में उनके हस्ताक्षर हैं.

सिंह ने बताया कि कांग्रेस के कुछ और विधायक इस्तीफे दे सकते हैं. कुल मिलाकर ऐसे विधायकों की संख्या 30 तक हो सकती है.

भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल द्वारा इस्तीफे की प्रति सौंपे जाने के बाद विधानसभाध्यक्ष प्रजापति का कहना है कि सदस्यों ने इस्तीफे की जो प्रतियां दी हैं, उन पर नियमानुसार कार्रवाई करेंगे.

सिंधिया द्वारा कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता और सभी पदों से इस्तीफा दिए जाने के कुछ देर बाद ही विधायकों के इस्तीफे शुरू हो गए. 19 विधायकों ने विधानसभाध्यक्ष तक अपने इस्तीफे भेजे थे. इसके साथ ही इन विधायकों ने एक साथ अपनी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी.