आपके बैंक चेक में हो सकते हैं बड़े बदलाव, सुप्रीम कोर्ट ने आरबीआई को दिए ये सुझाव

बहुत जल्द अगर भारतीय रिजर्व बैंक सुप्रीम कोर्ट के सुझाव को मान लेता है तो आपके चेकबुक में कई बदलाव हो सकते हैं. दरअसल, एक मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आरबीआई को सुझावों की ​एक लिस्ट भेजी है. इस लिस्ट में कई ऐसे बदलाव हैं जो चेक बाउंस के मामलों से लेकर कई अन्य प्रक्रियाओं को बदल देगा. इस सुझाव को चीफ जस्टिस सरद अरविंद बोबड़े और ​जस्टिस एल नागेश्वर राव की बेंच ने दिया है.

दरअसल, एक केस की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आर बीआई को सुझाव दिया है कि वो चेक के नए प्रोफॉर्मा पर विचार करे, जिसमें पेमेंट के कारण के साथ-साथ अन्य जानकारियां भी हों ताकि चेक बाउंस के मामले में उचित न्यायिक निर्णय लिया जा सके.

दोनों जजों की बेंच ने इस बात पर भी विचार किया कि एक इन्फॉर्मेशन शेयरिंग मैकेनिज्म भी तैयार किया जाना चाहिए, जिसमें आरोपी की जांच के लिए बैंक जरूरी जानकारियों को साझा कर सकें. इसमें अकाउंटहोल्डर की e-Mail ID, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और पर्मानेन्ट एड्रेस जैसी जानकारियां हो सकती हैं. लाइवलॉ ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी है.

वर्तमान में किसी ​भी बैंक के चेक पर बैंक का नाम, अकाउंट नंबर, अकाउंट होल्डर का साइन, बैंक का आईएफएसी कोड, बैंक ब्रांच का एड्रेस आदि ही होता है.