कोरोनावायरस: केरल में 3 साल के बच्चे में संक्रमण की पुष्टि, भारत में मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 40

केरल में एक तीन साल का बच्चा कोरोनावायरस से संक्रमित पाया गया है. अधिकारियों ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी. नए मामले की पुष्टि के बाद देश में कोरोनावायरस के अब तक 40 मामले सामने आ चुके हैं.

यह बच्चा अपने माता-पिता के साथ हाल ही में इटली गया था. वहां से ये लोग 7 मार्च को कोच्चि पहुंचे थे. यहां कोच्चि एयरपोर्ट में स्क्रीनिंग के दौरान बच्चे में संक्रमण की आशंका के बाद उसे और परिवार को आइसोलेट कर दिया था और उनके नमूने जांच के लिए पुणे भेजा गया, जहां बच्चे के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

केरल में दो दिन के अंदर कोरोना वायरस से संक्रमण का यह छठा मामला है. इससे पहले रविवार को पांच लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी. रविवार को पिछले महीने इटली से आए केरल के एक दंपति और उसके बेटे और और उनके दो रिश्तेदारों को जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया. वहीं केरल में प्रशासन ने अपनी यात्रा और संक्रमण की जानकारी छिपाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है, जिनपर मुकदमा भी चलाया जा सकता है.

इससे पहले केरल की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने कहा कि ये मामले सामने आने के बाद राज्य में अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है. राज्य को हाई अलर्ट पर रखा गया है. लगभग एक सप्ताह पहले इटली से लौटे दंपत्ति और उसका बेटा हवाई अड्डे पर स्वास्थ्य जांच से बच निकले थे.

इस बीच, कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च तक क्रूज जहाजों को प्रवेश न देने के केंद्र सरकार के निर्देश के बाद शनिवार को पनामा ध्वज वाले ‘एमएससी लिरिका’ नामक एक क्रूज को न्यू मंगलोर बंदरगाह से वापस कर दिया गया. उधर सिक्किम के बाद, अरुणाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए विदेशियों को जारी किए जाने वाले प्रोटेक्टेड एरिया परमिट (पीएपी) को अस्थायी तौर पर निलंबित करने का फैसला किया है.

वहीं दिल्ली सरकार केंद्र से आग्रह करेगी कि उन देशों की यात्रा पर प्रतिबंध लगाए जहां कोरोना वायरस के काफी संख्या में मामले सामने आए हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली के लोगों से अपील की कि वायरस के संक्रमण के प्रसार को लेकर घबराएं नहीं और धैर्य बनाए रखें.