दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आईएस खोरासान माड्यूल के संदिग्ध कपल, टला बड़ा हादसा

रविवार को दिल्ली पुलिस ने जामिया नगर इलाके सेआईएस के खोरासान मॉडयूल से संबंधित एक कपल को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि खुफिया विभाग की जानकारी पर यह कार्रवाई की गई. बताया जा रहा है यह कपल अफगानिस्तान में आईकेएसपी के लोगों से संपर्क में थे और वो हाल ही में नागरिकता संशोधन कानून खिलाफ जो विरोध हो रहे हैं उसे और भड़काना चाहते थे.

जहांनजैब सामी और उसकी पत्नी हिना बशीर बेग को हिरासत में लिया गया है. पुलिस का कहना है कि दोनों की गिरफ्तारी के लिए कागजी कार्रवाई पूरी की जा रही है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि जहांजैब सामी खुफिया एजेंसियों की नजर में तब आया जब वो अफगानिस्तान में आईकेएसपी के वरिष्ठ सदस्यों के संपर्क में था. आईकेएसपी, आईएस की अफगानिस्ता में शाखा है. पुलिस का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि वो आत्मघाती हमलों के साथ दूसरे हमलों के जरिए भारत को दोहराने की फिराक में था और इसके लिए वो हथियार खरीदने की फिराक में था.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि अगर जहांजैब सामी की हाल की गतिविधियों पर नजर डालें तो साइबर स्पेस के जरिए आतंकी संगठनों के प्रोपगैंडा वार में शामिल है. इसे निर्देश दिया गया था कि इस समय भारत में जो कुछ हो रहा है उसे और भड़काने वाले अंदाज में पेश करने के साथ ही अपनी गतिविधियों को सिर्फ जम्मू-कश्मीर तक सीमित न रखे.

एजेंसियों का कहना है कि जहांजैब सामी का संबंध हुजैफा-अल-बाकिस्तानी पाकिस्तानी कमांडर से था. यह शख्स आईएस खोरासान मॉड्यूल में सक्रिय भूमिका निभाया था. सबसे बड़ी बात यह सामने आई कि इसके जिम्मे कश्मीर युवकों को कट्टरपंथ की तरफ ढकेलने की जिम्मेदारी दी गई थी. बाकिस्तानी पहले लश्कर -ए- तैयबा से जुड़ा हुआ था और बाद में आईएस का दामन थाम लिया. अफगानिस्तान में ड्रोन अटैक में इसे मार गिराया गया था और इसकी पुष्टि पिछले साल जुलाई में आईएस की मीडिया विंग ने की थी. आईएस का कहना था कि बाकिस्तानी ने भारतीय जांच एजेंसियों की नींद उड़ा दी थी.