उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में बिगड़ा मौसम का मिजाज, औली-हेमकुंड में बर्फबारी

उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में पिछले दो दिनों से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है. जनपद चमोली के औली, बदरीनाथ, कुंवारीपास, हेमकुंड, फूलों की घाटी, स्वार्गारोहणी, सतोपंथ जैसे ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी का सिलसिला जारी है.

हिल स्टेशन औली में मार्च के माह में बर्फबारी होने से सभी के चेहरे खिल उठे हैं. बता दें कि अभी भी औली में ढाई फीट तक बर्फ मौजूद है लेकिन शुक्रवार को दोपहर बाद एक बार फिर से औली में बर्फबारी शुरू हो गई है. जिसका स्थानीय निवासी समेत टूरिस्ट लुफ्त उठा रहे हैं. शुक्रवार को औली में दो इंच से अधिक नई बर्फ जम चुकी है.

बदरीनाथ और हेमकुंड में भी भारी बर्फबारी का सिलसिला जारी है. तो वहीं निचले इलाके जैसे जोशीमठ, पीपलकोटी, चमोली, नन्दप्रयाग आदि क्षेत्रा में बारिश का सिलसिला जारी है. जोशीमठ में बारिश के कारण कड़ाके की ठंड हो रही है और लोगों ने गर्म कपड़े एवं अलाव का सहारा लेना एक बार फिर से शुरू कर दिया है.

कुमाऊंभर में भी फिर भारी बारिश से ठंड लौट आई. पिथौरागढ़ में भारी बारिश व मुनस्यारी के खलिया, कालामुनि, गुंजी, नाभीढ़ांग के साथ कई क्षेत्रों में हिमपात हुआ है. बारिश से तराई भाबर में गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा है. शुक्रवार सुबह से ही कुमाऊं में रुक-रुककर गरज-चमक के साथ बारिश होती रही. मुनस्यारी के खलिया, कालामुनि के साथ पवित्र कैलास मानसरोवर यात्रा पथ व दारमा व्यास वैली के कई क्षेत्रों में बर्फबारी हुई है.

कालामुनि में दो इंच, खलिया में 4 व दारमा वैली में देर शाम तक 5 इंच से अधिक बर्फबारी हुई. पिथौरागढ़ में गुरुवार की तुलना में न्यूनतम तापमान 4डिग्री लुढ़ककर 3.7 पर पहुंच गया. मुनस्यारी में भी तापमान 1 डिग्री दर्ज किया गया.