पूर्णागिरी मेले पर भी कोरोना वायरस का साया पड़ने की आशंका, सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता करने में जुटा स्वास्थ्य विभाग 

पड़ोसी राज्य यूपी में कोरोनो वायरस की दस्तक के बीच कुमाऊं के सबसे बड़े पूर्णागिरी मेले पर भी इस वायरस का साया पड़ने की आशंका देखते हुए जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर है. उधर, महाकाली नदी की भारत-नेपाल खुली सीमा पर अवैध रूप से आने-जाने वाले लोगों की स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था नहीं होना भी परेशानी का सबब है. 

मेला अवधि के दौरान यूपी, नेपाल के अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों से करीब 20 से 25 लाख श्रद्धालु आते हैं. मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या देखते हुए कोरोना जांच के लिए कैंप तैयार करना और डॉक्टरों की तैनाती करना बड़ी चुनौती होगा.

हालांकि सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी का कहना है कि पूर्णागिरी मेले में अधिक डॉक्टरों की तैनाती के लिए स्वास्थ्य महानिदेशक को पत्र भेजा गया है. मेला क्षेत्र में दो चिकित्सा कैंपों के साथ पांच की जगह 20 स्टाफ तैनात करने, ठुलीगाड़ में 24 घंटे एक अतिरिक्त एंबुलेंस की व्यवस्था के साथ एक मोबाइल चिकित्सा वैन चलाने, लोगों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखेगी.

स्वास्थ्य विभाग ने भारत-नेपाल सीमा पर स्थित एसएसबी चेकपोस्ट समेत कई स्थानों पर जांच केंद्र खोले हैं लेकिन इन केंद्रों में तैनात चिकित्सा स्टाफ के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है. इस कारण शुक्रवार को हुई बारिश के मौसम में चिकित्सा टीम को छतरी के सहारे खड़े रहकर स्वास्थ्य परीक्षण करना पड़ा. संवाद

शुक्रवार को बागेश्वर में चीन से आए चार लोगों के कोरोना जांच के लिए जिला अस्पताल आने की अफवाह फैल गई. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने इससे इंकार किया है. मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. रावत ने लोगों से किसी तरह की अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है. मालूम हो कि पिछले दिनों देहरादून में कोराना पॉजिटिव मरीज मिलने की अफवाह दिन भर सोशल मीडिया पर वायरल होती रही.

सिडकुल की एक वाहन निर्माता कंपनी में प्रशिक्षण देने के लिए ताइवान से आए छह लोगों में कोरोना वायरस की आशंका से खलबली मच गई. सूचना पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने होटल में ठहरे सभी छह लोगों की गहनता से जांच की. हालांकि जांच में किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले. उधर, कंपनी प्रबंधन ने सभी छह लोगों को वापस दिल्ली भेज दिया है.

देश में कोरोना वायरस की दस्तक को देखते हुए पंतनगर एयरपोर्ट को हाई अलर्ट पर रखा गया है. दिल्ली और देहरादून से आने वाले यात्रियों पर कड़ी नजर रखने सहित विदेशों से सिडकुल जाने के लिए हवाई यात्रा कर पंतनगर पहुंच रहे यात्रियों की एयरपोर्ट पर कई चरणों की सघन जांच के बाद ही बाहर निकलने दिया जा रहा है. एयरपोर्ट कर्मियों सहित सुरक्षा स्टाफ, एयर इंडिया, अग्निशमन विभाग और एविएशन कंपनी के कर्मियों को मास्क उपलब्ध कराए गए हैं.