भाजपा नेता का बड़ा बयान, अगर मुस्लिम कोटे को लेकर एनसीपी- कांग्रेस महाराष्ट्र सरकार का साथ छोड़ दें तो…

मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुगंतीवार ने कहा कि अगर एनसीपी और कांग्रेस सरकार छोड़ने की धमकी देकर शिवसेना पर मुस्लिम कोटा देने का दबाव बनाएं तो वह महाराष्ट्र सरकार का हाथ थामेगी.

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुगंतीवार ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी का मानना है कि आरक्षण धर्म के आधार पर नहीं दिया जा सकता. राज्य के पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, ‘शिवसेना ने जो रूख अपनाया है वह सही है, वे संविधान की बात कर रहे हैं. संविधान धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं देता है.’ उन्होंने कहा, ‘अगर धर्म के आधार पर ही आरक्षण दिया जाना है तो सिखों और ईसाइयों ने क्या गलती की है?’

मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हालांकि, मंगलवार को कहा कि मुस्लिम कोटे के लिए प्रस्ताव अभी तक उनके पास नहीं आया है और जब आएगा तो उसकी वैधता का सत्यापन किया जाएगा.

इस संबंध में महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि सीएम उद्धव ठाकरे को इस मामले पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए. फडणवीस ने कहा कि उनके मंत्री ने यह बयान राज्य की विधानसभा में दिया है, अगर मुख्यमंत्री इसका समर्थन नहीं करते तो उन्हें सदन में ही इसे खारिज करना चाहिए.

भाजपा नेता ने कहा कि केन्द्र सरकार ने पहले ही आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए 10 प्रतिशत कोटे की व्यवस्था कर दी है जिसमें मुसलमान और ईसाई दोनों आते हैं.सुधीर मुगंतीवार ने कहा, “मुझे लगता है कि उद्धव जी ने बहुत सही रूख अपनाया है. शिवसेना के साथ हमरा गठबंधन सिद्धांत पर आधारित था. अगर कांग्रेस और राकांपा इस मुद्दे पर दबाव बना रहे हैं तो शिवसेना को चिंता नहीं करना चाहिए.”

मुगंतीवार ने कहा, “अगर वे सरकार छोड़ भी देते हैं तो, हम इस विषय की हद में रहते हुए सरकार का साथ देंगे.” गौरतलब है कि अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने पिछले सप्ताह विधान परिषद में कहा था कि सरकार कानून बनाकर मुस्लिमों को पांच फीसदी कोटा उपलब्ध कराएगी.