संसद के गेट नंबर-1 पर कार बूम बैरियर से टकराई, मची अफरा-तफरी-सुरक्षाकर्मी ने तान दी बंदूक

मंगलवार कोसंसद परिसर में उस समय थोड़े देर के लिए सुरक्षाकर्मियों में अफरा-तफरी मच गई जब भाजपा सांसद विनोद कुमार की कार गलती से वहां लगे बूम बैरियर के से टकरा गई. इस घटना से वहां सड़क में लगे टायर पंक्चर करने वाले स्पाइक सक्रिय हो गए. इस घटना में बाड़मेर से भाजपा सांसद विनोद कुमार सोनकर की कार क्षतिग्रस्त हो गई. यह घटना संसद परिसर के गेट नंबर एक की है. बूम बैरियर के पास इस तरह की घटना होने से सुरक्षाकर्मी हरकत में आ गए और उन्होंने एहतियात बरतते हुए वाहन की चारों तरफ से घेरेबंदी कर दी. बाद में सोनकर की कार को वहां से बाहर ले जाया गया. बता दें कि इस समय संसद का बजट सत्र चल रहा है.

दुर्घटना के समय स्पाइक्स के सक्रिय होने पर वहां तैनात सुरक्षाकर्मी हरकत में आ गए और किसी भी अवांछित घटना को टालने के लिए अपनी पोजीशन ले ली. संसद पर 2001 में हुए आतंकवादी हमले के बाद सुरक्षा के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करता है.

बता दें कि पिछले साल फरवरी में भी इसी तरह की एक घटना हुई थी. मणिपुर के कांग्रेस सांसद डॉ. थोकचोम मेन्या की कार संसद परिसर में लगे एक बैरिकेड से टकरा गई थी. इसके बाद वहां लगे स्पाइक्स ने उनकी कार को आगे बढ़ने से रोक दिया. साथ ही सुरक्षाकर्मियों को अलर्ट करने वाले साइरन भी बज उठे. यह घटना जिस समय हुई उस समय सांसद कार में नहीं थे.

साल 2001 के आतंकवादी हमले के बाद संसद की सुरक्षा काफी सख्त कर दी गई है. इस हमले में नौ लोगों की जान गई थी. 13 दिसंबर 2001 को पांच आत्मघाती आतंकवादियों ने संसद पर हमला किया था. ये सभी आतंकवादी अपने साथ एके-47, ग्रेनेड एवं विस्फोटकों से लैस थे. संसद परिसर में सुरक्षाकर्मियों के साथ आतंकवादियों की मुठभेड़ करीब 20 मिनट तक चली. इस हमले में सभी आतंकवादी मारे गए.