कुंडली के इस घर का ग्रह देता है गंभीर बीमारी होने का संकेत

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के जीवन में भविष्य में घटित होने वाली हर अच्छी-बुरी घटनाओं के बारे में जाना जा सकता है. अगर कोई व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी से बीमार हो तो निश्चित ही उसकी कुंडली के छठे घर में कोई अशुभ ग्रह बैठा है जिसके कारण वह बीमार है. जानें कुंडली में बैठा कौन सा बुरे ग्रह के कारण कौ सी बीमार होती है.

1- कुंडली में सूर्य ग्रह के कुपित होने पर व्यक्ति को सिर व मष्तिष्क, ह्रदय, नेत्र, कान रोग और अस्थि भंग जैसी आदि बीमारी हो सकती है.

2- कुंडली में चंद्र ग्रह के कुप्रभाव के कारण मानसिक रोग, नींद न आना, नींद का बार-बार टूटना, जल से भय और उन्माद जैसे रोग हो सकते हैं.

3- कुंडली में मंगल ग्रह के कुपित होने पर पित्त विकार, त्वचा रोग, टायफाइड और अपेंडिक्स जैसे रोग होते हैं.

4- कुंडली में बुध ग्रह के कुपित होने के कारण वात, पित्त और कफ से सम्बंधित रोग, नाक और गले के रोग होने के साथ बुद्धि की कमी होने लगती है.

5- कुंडली में गुरु ग्रह के कुपित होने से गठिया, कमर व जोड़ों में दर्द, शरीर में सूजन, कब्ज आदि रोग होने लगते हैं.

6- कुंडली में शुक्र ग्रह कुपित होने पर व्यक्ति को वात और कफ रोग होने के साथ-साथ शरीर के अंदरूनी हिस्सों में रोग होते रहते हैं.

7- कुंडली में शनि ग्रह के कुपित होने से वात एवं कफ रोग, कैंसर, सांस के रोग आदि गंभीर रोग होते हैं.

8- कुंडली में राहु ग्रह के कुपित होने पर व्यक्ति को संक्रामक रोग, ह्रदय रोग, विष जनित रोग और हाथ और पैरों में दर्द जैसी बीमारियां होती है.

9- कुंडली में केतु के ग्रह कुपित होने से व्यक्ति को त्वचा रोग, पाचन संबंधी रोग होते हैं.