सचिन की स्मिथ के पीछे पड़े फैन्स को नसीहत, कहा- उन्हें अपने किए पर पछतावा है, उन्हें थोड़ा समय दें

बॉल टैंपरिंग मामले में आलोचनाओं के घेरे में आए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ ने स्वदेश लौटकर इस पूरे मामले में माफी मांगी. उन्होंने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा, बॉल टैंपरिंग के लिए मैं शर्मिंदा हूं और इसके लिए केवल मैं ही जिम्मेदार हूं. यह मेरी लीडरशिप की विफलता है. इस दौरान स्टीव स्मिथ अपने आप को संभाल नहीं पाए और रो पड़े.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण की जांच के बाद स्मिथ और वार्नर को सभी अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट से एक साल के लिए जबकि कैमरन बेनक्रोफ्ट को नौ महीने के लिए प्रतिबंधित किया. इसके अलावा स्मिथ प्रतिबंध खत्म होने के एक साल बाद तक टीम की कप्तानी नहीं कर पायेंगे जबकि वार्नर को यह जिम्मेदारी कभी नहीं दी जाएगी.

दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट जगत से कहा कि वे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बैनक्रोफ्ट को समय देंगे जिन्होंने गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में अपनी संलिप्तता के लिए माफी मांगी है. तेंदुलकर एक दिन पहले ही कह चुके हैं कि बॉल टेम्परिंग का दोषी पाए जाने पर ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ और उप कप्तान डेविड वार्नर पर एक साल का प्रतिबंध लगाकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने सही फैसला किया है.

तेंदुलकर ने ट्विटर पर अपने इस ट्विट में लिखा, ‘‘उन्हें अपने किए पर पछतावा है और उन्हें अपने कृत्य के नतीजों के साथ रहना होगा. उनके परिवार के बारे में सोचें क्योंकि खिलाड़ियों के साथ उनके परिवार को भी यह झेलना होगा. अब समय आ गया है कि हम पीछे हटें और उन्हें थोड़ा समय दें.’’

इससे पहले सचिन ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘‘क्रिकेट को भद्रजनों के खेल के रूप में जाना जाता है. यह ऐसा खेल है जिसके बारे में मेरा मानना है कि इसे पाक साफ तरीके से खेलना जाना चाहिए. जो भी हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन खेल की अखंडता को बनाए रखने के लिए सही फैसला किया गया. जीतना महत्वपूर्ण है लेकिन यह अधिक महत्वपूर्ण है कि आप किस तरह जीतते हो.’’

स्मिथ के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम के मुख्य कोच डेरेन लेहमेन ने अब अपने पद से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया है. उन्होंने अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाले चौथे टेस्ट मैच से पहले ये ऐलान कर दिया. हालांकि इससे पहले ही ये अनुमान लगाए जा रहे थे कि इस विवाद में उनकी कुर्सी भी जाएगी. लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपनी जांच में उन्हें क्लीनचिट दे दी. यह घोषणा करते हुए लेहमन भी काफी भावुक नजर आए थे.

सचिन का यह ट्वीट स्मिथ के माफी मांगने के पहले आया है. हालांकि स्मिथ पहले दक्षिण अफ्रीका में ही इस विवाद पर जिम्मेदारी लेते हुए माफी मांग चुके हैं.

गौरतलब है कि सचिन तेंदुलकर भी एक बार बॉल टेम्परिंग विवाद में फंस चुके हैं और उन्हें सजा भी हुई थी. नवंबर 2001 में भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पोर्ट एलिजाबेथ टेस्ट के दौरान सचिन पर बॉल टेम्परिंग का आरोप लगा था और हालांकि उनपर लगा एक टेस्ट का बैन बाद में हटा लिया गया था.