B’day Spl: प्रकाश राज 5 नेशनल अवॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं

प्रकाश राज का असली नाम प्रकाश राय है. उन्होंने तमिल डायरेक्टर के. बालाचंदर के कहने पर अपना नाम बदला था. प्रकाश राज ने अपने करियर की शुरुआत दूरदर्शन पर आने वाले सीरियल ‘बिसिल कुदुरे’ से की. साल 1994 में उन्होंने तमिल सिनेमा में डेब्यू किया था.

प्रकाश राज साउथ फिल्म इंडस्ट्री के उन एक्टर्स में से एक हैं जिन्होंने बॉलीवुड में भी बखूबी नाम कमाया. आज के समय में देखें तो प्रकाश राज जितना बड़ा शायद कोई विलेन हो. उन्होंने तेलुगू के साथ-साथ बॉलीवुड में भी खुद को मजबूती से पेश किया. प्रकाश राज आज 52 साल के हो गए. उनका जन्म आज ही के दिन यानी 26 मार्च 1965 को बेंगलुरू में हुआ था. उनके जन्मदिन पर आइए जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें.

प्रकाश राज अब तक हिंदी फिल्मों में बतौर विलेन कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं, जिनमे सबसे ज्यादा पसंद उन्हें सलमान खान की फिल्म ‘वॉन्टेड’ में घनी भाई के किरदार में किया गया था. इसके अलावा वह ‘सिंघम’, ‘दबंग 2’, ‘बुड्ढा होगा तेरा बाप’, ‘सिंह साहब द ग्रेट’, ‘जंजीर’ जैसी फिल्में शामिल हैं.

फिल्ममेकर के. बालाचंदर ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और 1997 में अपनी फिल्म ‘नागमंडल’ में मौका दिया जिसके बाद प्रकाश राज ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. प्रकाश राज को हिंदी फिल्मों में असली पहचान सलमान खान की फिल्म ‘वॉन्टेड’ से मिली. जिसके बाद बॉलीवुड को प्रकाश राज के रूप में एक नया विलेन मिला. बतौर विलेन उन्होंने कई फिल्मों में अपनी एक्टिंग की छाप छोड़ी.

एक्टर होने के साथ-साथ प्रकाश राज ने कई फिल्में भी बनाई हैं. इसके अलावा वह अपने करियर में अभी तक करीब 2 हजार से ज्यादा प्ले कर चुके हैं. 29 साल के करियर में प्रकाश को 5 बार राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री ने उन्हें उनके बर्ताव की वजह से 6 बार बैन कर दिया था. ऐसा पहली बार हुआ था जब तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में किसी एक्टर को बैन किया.