आसमान से गिरे सोना, हीरे और प्लेटिनम, 20 किमी तक फैल गए; मालामाल हो गए लोग!

कहते हैं ऊपर वाला जब देता है तो छप्पर फाड़कर देता है। छप्पर तो पता नहीं, लेकिन एक जगह ऐसी है जहां विमान फाड़कर दौलत बरसी. रूस के यकूतिया में एक प्लेन के उड़ान भरने के दौरान रनवे पर सोने, हीरे और प्लेटिनम जैसी बेशकीमती धातुओं की बारिश होने लगी. दरअसल उड़ान भरने के दौरान कीमती धातुओं का खजाना प्लेन के एक ढीले हैच के उखड़ जाने से बाहर आ गया और रनवे पर फैल गया.

इस पूरे घटनाक्रम में प्लेन के कार्गो में रखा सोना, डायमंड और प्लेटिनम जैसी बेशकीमती धातुओं का 9 टन का जखीरा रनवे पर बिखर गया. घटना रूस के यकूतिया में एक कार मार्केट के करीब हुई. हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ. जैसे ही प्लेन के क्रू को इसका पता चला, क्रासनोयार्स्क को जाने वाले इस प्लेन ने मगन में इमरजेंसी लैंडिंग की.

ब्रिटिश वेबसाइट मिरर के मुताबिक पूरे खजाने की कीमत 265 मिलियन पाउंड के करीब थी, जिसकी भारतीय मुद्रा में कीमत 240 करोड़ से ज्यादा होती है. साइबेरियन टाइम्स के मुताबिक निम्बस एयरलाइंस एएन-12 कार्गो प्लेन को उड़ान भरने के दौरान कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ा और खजाना पूरे रनवे पर बिखर गया.

यकूती मीडिया के मुताबिक प्लेन से गिरी कुछ सोने की ईंटों को एयरपोर्ट से 15 मील (करीब 20 किलोमीटर) दूर भी पाया गया है. पुलिस ने रनवे को सील कर दिया और बड़े पैमाने पर सर्च अभियान चलाया जा रहा है. इस काम में सिर्फ सीक्रेट सर्विस के लोगों को ही लगाया गया है. अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि ये घटना दुर्घटनावश हुई है या किसी साजिश का हिस्सा थी.

प्लेन को उड़ान भरने के लिए तैयार करने वाले टेक्निकल इंजीनियरों को गिरफ्तार कर लिया गया है. सूत्रों का दावा है कि इस मामले में पूछताछ चल रही है. प्लेन में रखा गया कार्गो चुकोटा माइनिंग और जिओलॉजिकल कंपनी का था.

इसमें करीब 75 प्रतिशत शेयर कनाडियन किनरॉस गोल्ड का है. बता दें कि यकूतिया की राजधानी याकुत्सक है, जोकि रूस का डायमंड प्रोडक्शन एरिया है.