अरविंद केजरीवाल बुजदिल हैं, उन्होंने पंजाबियों से विश्वासघात किया है : नवजोत सिद्धू

अरविंद केजरीवाल ने मजीठिया से माफी क्या मांगी, आम आदमी पार्टी में घमासान मच गया और भगवंत मान ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया.

आज सवेरे अपने फेसबुक पेज पर भगवंत मान ने एक पोस्ट डालते हुए पंजाब आप के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया. उन्होंने लिखा कि मैं पंजाब आप के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा है, लेकिन एक आम आदमी होने के नाते पंजाब में भ्रष्टाचार और ड्रग माफिया के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी.

वहीं, भगवंत मान के इस कदम से पंजाब की राजनीति में खलबली मच गई है. आम आदमी पार्टी में भी हड़कंप मचा हुआ है. हर कोई अचानक हुए इस इस्तीफे को लेकर स्तब्ध है. बताया जा रहा है कि भगवंत मान मजीठिया से माफी मांगे जाने से नाराज हैं. इसी के चलते उन्होंने पद छोड़ दिया.

अरविंद केजरीवाल के माफीनामे और भगवंत मान के इस्तीफे के बाद मंत्री नवजोत सिद्धू ने तीखा हमला बोला और तंज कसते हुए अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की. नवजोत सिद्धू का कहना है कि अरविंद केजरीवाल बुजदिल हैं. ड्रग रैकेट मामले में केजरीवाल का मजीठिया से माफी मांगना बुजदिली है और बुजदिली की सजा मौत है.

नवजोत सिद्धू ने कहा कि केजरीवाल ने ड्रग माफिया के आगे घुटने टेके हैं. पंजाब की जनता के साथ धोखा किया हैं. केजरीवाल ने अपनी निजी स्वार्थ के लिए जनता के साथ विश्वासघात किया है और प्रजा का विश्वास खोया है. देश की जनता के लिए इससे बड़ा धोखा कोई और हो ही नहीं सकता.

नवजोत सिद्धू ने कहा कि केजरीवाल ने माफी मांगकर खुद पार्टी को दोफाड़ किया है. पंजाब में आप आदमी पार्टी का कत्ल किया है. पंजाबियों से खिलवाड़ किया है, मैं तो ये सोच रहा हूं कि उनके अपने साथी उन्हें लीडर मानते भी हैं या नहीं. वे साथियों को कुछ समझते ही नहीं, तभी तो कदम उठाने से पहले सलाह तक नहीं ली.

नवजोत सिद्धू ने कहा कि भगवंत मान का अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना उनका निजी फैसला है, पर इससे जाहिर होता है कि केजरीवाल के माफीनामे से सभी को कितनी ठेस पहुंची है. पार्टी का संयोजक और एक मुख्यमंत्री होने के नाते अरविंद केजरीवाल को ऐसा करना शोभा नहीं देता.