उत्तराखण्ड:पांच ज‌िलों में 72 घंटे भारी बारिश का अलर्ट

देहरादून, उत्तराखण्ड के पर्वतीय जिलों चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग सहित बागेश्वर, पिथौरागढ़ में 29 से 31 तक 72 घंटे भारी बारिश की चेतावनी दी गई. चार धाम यात्रा पर जाने वाले यात्रियों की सुरक्षा के लिहाज से सलाह दी गई है कि इन दिनों सुरक्षित स्थानों पर रुके रहे या मौसम को देखकर ही अपनी आगे की यात्रा को जारी रखे.मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक बिक्रम सिंह बताया कि उत्तराखंड के ल‌िए आने वाले तीन द‌िन भारी बारिश हो सकती है. मौसम व‌िभाग ने प्रदेशभर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. 28 मई से एक जून तक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने जा रहा है.उत्तराखंड में इसका असर 29 मई से शुरू हो जाएगा.

उन्होंने बताया कि 29, 30 और 31 मई को प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होगी. साथ ही 29 मई से आगामी 72 घंटे (29, 30 व 31 मई) तक उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ और नैनीताल में भारी बारिश हो सकती है.भारी बारिश और लगातार बारिश की वजह से पहाड़ी रास्ते बंद हो सकते है. कई जगहों पर भूस्खलन हो सकता है. मौसम विभाग ने चारधाम यात्रियों को इस दौरान अतिरिक्त सतर्कता बरतने की अपील की है.मौसम का हाल जानकार ही आगे बढ़ने को कहा है.प्रदेश के मैदानी हिस्सों में भी बारिश की वजह से गर्मी से राहत मिलेगी.

विदित रहे कि मई और जून में चार धाम अपने चरम पर रहती है, इस दौरान मौसम का मिजाज बिगड़ जाये तो यात्रियों के साथ ही स्थानीय लोगों को बड़ी परेशानियों से गुरजना पड़ता है. भारी बारिश होने की स्थिति में सुरक्षित यात्रा के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है.उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हिमपात की सूचना है। यही नहीं, देहरादून, पौड़ी सहित अन्य स्थानों पर कहीं हल्की तो कहीं जोरदार बौछारें पड़ीं। उधर, मौसम विभाग के मुताबिक मौसम के मिजाज में तब्दीली के आसार नहीं है.

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तराखंड में आंशिक से लेकर आमतौर पर बादल छाये रहेंगे. उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग व पिथौरागढ़ जनपदों में कुछ जगह और शेष जिलों में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम वर्षा अथवा गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है.