बर्फ से सफेद हुए मसूरी सहित तमाम पहाड़ी क्षेत्र, आज मौसम शुष्क रहेगा

सांकेतिक फोटो

शीतलहर के बीच मंगलवार को उत्तराखंड के कुछ क्षेत्रों में मौसम ने पलटी मारी और इसी के साथ पहाड़ों की रानी मसूरी के अलावा गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और हेमकुंड साहिब में बर्फबारी हुई. यही नहीं, दिनभर ही सर्द हवा के थपेड़े आम लोगों को हलकान करते रहे. परिणामस्वरूप ठिठुरन और अधिक बढ़ गई है.

वहीं, पिथौरागढ़ जिले में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फीले तूफान की आशंका के मद्देनजर आइटीबीपी को सतर्क किया गया है. मौसम विभाग के अनुसार स्थानीय कारकों के सक्रिय होने से कुछ जगह हल्की बर्फबारी हुई. बुधवार को पूरे राज्य में मौसम शुष्क रहेगा. मैदानी क्षेत्रों में सुबह और रात के वक्त उथला कोहरा भी बना रह सकता है.

उधर मंगलवार को सर्द हवा के बीच सुबह से धूप के बाद दोपहर बाद मौसम ने फिर करवट बदली और मसूरी समेत अनेक क्षेत्रों में बादल घिर आए. मसूरी में पहले ओलावृष्टि और फिर बर्फबारी से सैलानियों की बांछें भी खिल गईं. उन्होंने बर्फबारी का लुत्फ भी उठाया.

यही नहीं, यमुनोत्री, गंगोत्री व बद्रीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब में शाम के वक्त बादलों ने बर्फ की चादर और मोटी कर दी. देहरादून, पिथौरागढ़ समेत अन्य स्थानों पर भी एकाध बार घटाएं घिरी, लेकिन बारिश नहीं हुई.

मौसम के बदले रुख को देखते हुए शासन भी सतर्क हो गया है. इस कड़ी में सचिव आपदा प्रबंधन अमित नेगी की ओर से सभी जिलों के जिलाधिकारयों और संबंधित एजेंसियों को अलर्ट पर रखा गया है. पिथौरागढ़ में उच्च हिमालयी क्षेत्र में बर्फीले तूफान की आशंका को देखते हुए आइटीबीपी को सतर्क किया गया है.

उधर, मौसम विज्ञान केंद्र, देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि बारिश व बर्फबारी के चलते नमी अच्छी बनी हुई है. इस पर हल्की-सी हीटिंग भी हो गई. परिणामस्वरूप कुछ स्थानों पर बर्फबारी हुई. उन्होंने बताया कि बुधवार को राज्य में मौसम शुष्क रहने की संभावना है.