कांवड़ यात्रा खत्म होते ही हरिद्वार में अपराधियों का बोलबाला

कावंड़ यात्रा खत्म होते ही उत्तराखंड में तीर्थ नगरी हरिद्वार और आसपास के इलाकों में 15 अगस्त के दिन अपराध की कई घटनाएं सामने आई। कहीं बदमाश लूट के मकसद से घर में घुस गए तो, कहीं घास काटने को लेकर हुए विवाद में खून खराबा हो गया।

15 अगस्त एक तरफ पूरा देश आजादी के 69वें साल के जश्न में डूबा हुआ था, तो दूसरी तरफ तीर्थ नगरी हरिद्वार में अराजक तत्वों ने कई अपराधिक घटनाओं को अंजाम तेकर तांडव मचाए रखा।

हरिद्वार के भगवानपुर में शनिवार को घास काटने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। मुंह-जुबानी झगड़े से शुरू हुआ विवाद इतना बढ़ा की फायरिंग की नौबत आ गई। फायरिंग में आठ लोगों के घायल होने की खबर है।

उधर, रुड़की में आवास विकास कॉलोनी के एक घर में शनिवार को दोपहर लगभग एक बजे बदमाश घुस आए। उस वक्त घर पर कोई नहीं था, लेकिन मकान मालिक के घर लौट आने पर बदमाश फायरिंग करते हुए भाग गए।

बदमाश एक मोटर साइकिल व घर के ताले आदि तोड़ने के लिए औजारों से भरा बैग छोड़कर भाग निकले। शिकायत देने गए लोगों ने पुलिस को शिकायत में सामान छोड़कर भागने वाली बात नहीं लिखने का दबाव डाला। लेकिन पुलिस ने उनकी बात से इंकार करते हुए कहा ये बात वह अपनी जांच में लिखेंगे।

शनिवार को हरिद्वार की रानीपुर कोतवाली की लेबर कॉलोनी में 62 वर्षीय एक महिला की लाश संदिग्‍ध रूप से तालाब में मिली। पुलिस महिला का गला घोंटकर नदी में फेंकने की आशंका जता रही है। दोपहर करीब तीन बजे महिला की लाश तालाब में तैरती मिली। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।