अखिलेश को रोका जाना लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक : मायावती

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव को मंगलवार प्रयागराज जाने से रोके जाने को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने भाजपा सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक करार दिया है.

मायावती ने एक ट्वीट में कहा, “समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को मंगलवार को इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिए उन्हें लखनऊ हवाईअड्डे पर ही रोक लेने की घटना अति-निंदनीय व भाजपा सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक है.”

उन्होंने सवाल किया, “क्या भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार बसपा-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है.”

मायावती ने कहा, “यह अति दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाइयों का डट कर मुकाबला किया जाएगा.”