ऑकलैंड टी-20 : सीरीज में बराबरी करने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

ऑकलैंड|… पहले मैच में टी-20 प्रारूप में अपनी अभी तक की सबसे बड़ी हार झेलने के बाद टीम इंडिया शुक्रवार को यहां ईडन पार्क मैदान में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में बराबरी करने के इरादे से उतरेगी. टीम इंडिया के पास तीन मैचों की टी-20 सीरीज में बने रहने के लिए इस मैच में जीत ही एक मात्र विकल्प है. वहीं मेजबान के पास इस मैच को जीत वनडे सीरीज में मिली हार का बदला लेना का शानदार मौका है.

पहले मैच में टीम इंडिया के न ही बल्लेबाज चले थे, न ही गेंदबाज. टीम इंडिया ने पहले मैच में प्रयोग किए थे जो पूरी तरह से असफल रहे थे. टीम के कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा दूसरे मैच में भी इन प्रयोगों को जारी रखते हैं या नहीं यह देखना होगा. इन प्रयोगों के बीच मकसद विश्व कप से पहले अपनी बेंच स्ट्रैंग्थ को मजबूत करना और उन्हें पर्याप्त मौके देना है.

पहले मैच में टीम इंडिया ने तीन हरफनमौला खिलाड़ी सहित कुल आठ बल्लेबाजों को मैदान पर उतारा था लेकिन कोई भी बल्लेबाज विकेट पर टिक नहीं सका था. कप्तान, शिखर धवन, ऋषभ पंत का बल्ला पूरी तरह से खामोश रहा था.

इसके अलावा टीम इंडिया का गेंदबाजी आक्रमण भी पूरी तरह से विफल रहा था. अनुभवी भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर, क्रूणाल पांड्या और युजवेंद्र चहल की किवी बल्लेबाजों खासकर टिम सेइफर्ट ने जमकर धुनाई की थी और खेल के छोटे प्रारुप में अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया था.

रोहित टीम में बदलाव कर सकते हैं और कुलदीप यादव को अंतिम-11 में मौका दे सकते हैं. कुलदीप के लिए विजय शंकर या क्रूणाल पांड्या को कुरबानी देनी पड़ सकती है.

वहीं खलील अहमद के स्थान पर मोहम्मद सिराज या सिद्धार्थ कौल को मौका मिल सकता है.

पहले मैच में टीम इंडिया की फील्डिंग भी अच्छी नहीं रही था. टीम के खिलाड़ियों ने अहम समय पर कुछ अहम कैच छोड़े थे जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ेगा. टीम प्रबंधन चाहेगा की टीम इंडिया इस मैच में फील्डिंग की गई गलतियां दोहराए नहीं.

पहले मैच में किवी टीम के लिए सभी कुछ अच्छा रहा था. उसकी बल्लेबाजी भी चली थी तो गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया था.

सेइफर्ट ने पहले मैच में 43 गेंदों पर 84 रनों की पारी खेली थी. एक बार फिर वह टीम इंडियाीय गेंदबाजों के लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं. कोलिन मनुरो टी-20 के खतरनाक बल्लेबाज हैं. उन्होंने पहले मैच में 34 रनों की तेज तर्रार पारी खेली थी. मुनरो का बल्ला भी टीम इंडिया के लिए चिंता का सबब है.

इन दोनों के अलावा केन विलियम्सन और स्कॉट कुगेलेजिन ने भी तेजी से रन बटोरे थे. अनुभवी रॉस टेलर का बल्ला जरूर खामोश रहा था.

गेंदबाजों की बात की जाए तो टिम साउदी, लॉकी फग्र्यूसन, ईश सोढ़ी और मिशेल सैंटनर सभी ने शानदार गेंदबाजी करते हुए टीम इंडिया को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया था.

टीम :

टीम इंडिया : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, ऋषभ पंत, शुभमन गिल, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, क्रूणाल पांड्या, खलील अहमद, विजय शंकर, केदार जाधव.

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), कोलिन मुनरो, टिम सेइफेर्ट (विकेटकीपर), रॉस टेलर, कोलिन डी ग्रांडहोम, जेम्स नीशाम, मिशेल सैंटनर, डग ब्रैसवेल, टिम साउदी, ईश सोढ़ी, लॉकी फग्र्यूसन, स्कॉट कुगेलेजिन, डार्ले मिशेल.