कुंभ में पौष पूर्णिमा पर हजारों लोगों ने संगम में किया स्नान

पौष पूर्णिमा के मौके पर सोमवार को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती नदी के मिलन स्थल संगम में हजारों लोगों ने डुबकी लगाई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. 15 जनवरी को मकर संक्राति के बाद श्रद्धालुओं के लिए यह दूसरा सबसे बड़ा शाही स्नान है.

सुबह होते ही हजारों श्रद्धालु, जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं, पवित्र डुबकी लगाने के लिए कई किलोमीटर पैदल चलकर ‘कुंभनगर’ पहुंचे. मुख्य तिथियों के दिन स्नान में कोई परेशानी नहीं आए, इसके लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है.

जहां ज्योतिषीय आधार पर, रविवार को ‘पौष पूर्णिमा’ से जुड़ी धार्मिक रस्में शुरू हुई थीं, वहीं सोमवार की सुबह स्नान और ‘दान’ की मुख्य रस्म शुरू हुई. कई परिवारों ने यहां ‘कल्प वास’ के लिए तंबू गाड़ दिए हैं और इस अवधि के दौरान वे सादगी से रहेंगे.

इस एक महीने की लंबी अवधि के दौरान कल्पवास कर रहे लोग भजन गाते हैं, मंत्र जपते हैं और अपने लिए खुद भोजन बनाते हैं. तीसरा ‘शाही स्नान’ चार फरवरी को होगा.