इस ‘सतरंगी चाय’ ने बनाया पर्यटकों को दीवान, ऐसे बनती है

अगर आप हर गली, नुक्कड़ की चाय पी चुके हैं, तो ‘सतरंगी चाय’के बारे में क्या ख्याल है? जी हां, सतरंगी. बोले तो… सात रंगों वाली चाय. चौंकिए मत… क्योंकि इस चाय को पीने के बाद भी आपको तरोताजा ही फील होगा. बीते कुछ रोज से इंटरनेट पर ग्रीन टी, ब्लैक टी, नॉर्मल टी और तरह-तरह की कॉफी को छोड़ इसी चाय की चर्चा हो रही है.

Xinhua Net के मुताबिक, यह ‘सतरंगी चाय’ पर्यटकों को ढाका (बांग्लादेश की राजधानी) खींच रही है. यह चाय जिस दुकान पर मिलती है उसका नाम रंग्धोनु (इंद्रधनुष) है, जिसे सैफुल इस्लाम चलाते है. सैफुल ने इसे बनाने की अनोखी कला मौलवी बाजार के श्रीमंगल क्षेत्र के एक चायवाले से सीखी थी.

इस टी-स्टोर पर आम चाय 8 रुपये (10 टका, बांग्लादेशी करंसी) में मिलती है. जबकि ‘सतरंगी चाय’ की कीमत लगभग 70 रुपये है. और हां, इस खास चाय को बनाने का नुस्खा सैफुल ही जानते है. हालांकि, उन्होंने यह बता दिया है कि वह इसे बनाने में किन चायों का इस्तेमाल करते है.

इस ‘सतरंगी चाय’ को बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की स्थानीय और चीनी चायों का इस्तेमाल होता है. इसे तैयार करने के लिए तीन ब्लैक टी, एक ग्रीन टी और दूध के साथ कई मसाले मिलाए जाते है. इस चाय के हर मिश्रण का अपना अलग ही स्वाद होता है. जिसमें आपको संतरी, काला, सफेद, स्ट्रोबेरी, दूध और ग्रीन रंग की सतह मिलती है.

यह चाय पूरी तरह से ऑर्गेनिक है. क्योंकि इसे बनाने के लिए किसी तरह के रसायन का इस्तेमाल नहीं किया जाता. रिपोर्ट के मुताबिक, इस चाय में जो सफेद सतह होती है वह अदरक से बनाई जाती है, जो सेहत के लिए फायदेमंद होती है. अगर हो सके तो आप एक बार जरुर ट्राय करना.

साभार -नवभारत